दैनिक भास्कर हिंदी: तारिक अनवर ने छोड़ी NCP, राफेल पर शरद पवार के स्टैंड से थे नाराज

September 28th, 2018

हाईलाइट

  • मोदी का बचाव करने पर शरद पवार से नाराज थे अनवर
  • अनवर ने लोकसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है
  • अनवर ने साफ नहीं किया कि वो कौन सी पार्टी जॉइन करेंगे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राफेल डील के मुद्दे पर पीएम मोदी का बचाव करना NCP चीफ शरद पवार को महंगा पड़ गया। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के राष्ट्रीय महासचिव तारिक अनवर ने शुक्रवार को पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। अनवर ने कहा कि उन्होंने पार्टी के साथ ही लोकसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि राफेल डील में पीएम मोदी संलिप्त है, वो खुद को अभी तक पाक-साफ साबित नहीं कर पाए हैं। इस डील की पुष्टि खुद फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने की है। 

 

 

तारिक अनवर बिहार के कटिहार से सांसद हैं। उन्होंने ऐसे समय इस्तीफा दिया है, जब शरद पवार ने राफेल मुद्दे पर पीएम मोदी का बचाव किया है। पवार ने कहा था कि प्रधानमंत्री की नीयत पर शक नहीं किया जा सकता है। बता दें कि राफेल से पहले पवार मोदी के फैसलों की अलोचना करते रहे हैं। इससे पहले पवार विपक्षी दलों के बीच महागठबंधन बनाने की कोशिश भी कर चुके हैं।


तारिक अनवर ने कहा कि एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के पीएम का बचाव करने से वे पूरी तरह असहमत हैं। अनवर ने अभी इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार किया है कि वो किस पार्टी को ज्वाइन करेंगे। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं से मशवरा लेने के बाद वो आगे का प्लान तय करेंगे। 

 
गौरतलब है कि तारिक उन लोगों में शामिल रहे हैं, जो एनसीपी की स्थापना के समय शरद पवार के साथ थे। अनवर ने 1999  में शरद पवार के साथ कांग्रेस छोड़कर एनसीपी जॉइन की थी। बता दें कि शरद पवार, तारिक अनवर और दिवंगत पीए संगमा ने सोनिया के विदेशी मूल करा मुद्दा उठाकर कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। कयास लगाए जा रहे हैं कि अनवर फिर कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। आम चुनाव नजदीक होने के कारण कांग्रसे इस समय बिहार पर विशेष ध्यान दे रही है। ऐसे में तारिक अनवर के कांग्रेस में शामिल होने से पार्टी को काफी फायदा मिल सकता है।

खबरें और भी हैं...