दैनिक भास्कर हिंदी: स्वास्थ्य: सौरव गांगुली को जिम में कसरत के दौरान दिल का दौरा, एंजियोप्लास्टी के बाद हालत अब ठीक, अगले 48 घंटे अहम

January 2nd, 2021

हाईलाइट

  • सौरव गांगुली की जिम में वर्क आउट के दौरान बिगड़ी तबीयत
  • ममता बनर्जी ने जल्द स्वस्थ होने की कामना की
  • अमित शाह ने पत्नी डोना गाांगुली से फोन पर बात की

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। BCCI अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की शनिवार को एंजियोप्लास्टी हुई और अब वह खतरे से बाहर हैं। सीने में दर्द की शिकायत के बाद गांगुली को दोपहर में कोलकाता के वुडलैंड्स म्यूनिसिपैलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गांगुली शहर के एसएसकेएम अस्पताल में प्रोफेसर और डॉक्टर सरोज मोंडल की देखरेख में वुडलैंड्स अस्पताल में हैं। उन्हें अगले 48 घंटों तक निगरानी में रखा जाएगा।

जिम में कसरत के दौरान दिल का दौरा
मोंडल ने कहा कि 48 वर्षीय सौरव गांगुली की हालत अब स्थिर है और उनकी एंजियोप्लास्टी हुई है। वह अभी होश में है और स्थिर है। गांगुली अपने घर में बने जिम में वर्जिश कर रहे थे और इसी दौरान उन्हें चक्कर आया और फिर उन्होंने ब्लैक आउट की शिकायत की। उन्होंने अपने पारिवारिक डॉक्टर को बुलाया जिन्होंने उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी।

गांगुली की हुई एंजियोप्लास्टी, अब खतरे से बाहर 
डॉक्टर ने कहा कि गांगुली को तुंरत अस्पताल लाया गया, जहां उन्हें सभी तरह की चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई गई है। जब वह दोपहर 1 बजे अस्पताल आए, तो उनकी पल्स 70/मिनट थी और बीपी 130/80 मिमी एचजी था। मोंडल ने कहा कि उनकी एंजियोग्राफी और एंजियोप्लास्टी हुई, जिसके बाद दिल की नसों में स्टेंट डाला गया है। अब वह स्थिर हैं। वह जल्द ही अपनी दैनिक गतिविधियों में शामिल हो सकेंगे। 

ये टेस्ट भी किए गए
सूत्र ने बताया कि अस्पताल लाने के बाद उनका ECG टेस्ट किया गया। ट्रोपोनिन टी टेस्ट भी किया गया है। सूत्रों ने कहा कि डॉक्टर सरोज मोंडल अस्पताल में गांगुली की देखरेख कर रहे हैं। अब उन्हें आपातकालीन से गहन चिकित्सा कक्ष (ICU) में दाखिल कराया गया है।

क्रिटिकल था ब्लॉकेज
गांगुली का इलाज करने वाले डॉ. आफताब खान ने बताया कि वह पूरी तरह से होश में हैं। उनके हार्ट में दो ब्लॉकेज थे। वुडलैंड्स अस्पताल की सीईओ डॉ. रूपाली बसु और डॉ. सरोज मंडल ने बताया कि उनके हार्ट में कई ब्लॉकेज थे, जो क्रिटिकल थे। राहत की बात है कि उनकी तबीयत स्थिर है। उन्हें स्टेंट लगाया गया है।

ममता बनर्जी ने अस्पताल पहुंचकर जाना हाल
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वुडलैंड्स अस्पताल पहुंचकर सौरव गांगुली से मुलाकात की और उनका हाल जाना। सौरव गांगुली से बातचीत के बाद सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने मुझसे बात की, वो अब ठीक हैं। मैं अस्पताल प्रशासन और डॉक्टरों को धन्यवाद करती हूं।

Image

 

गांगुली के जल्द स्वस्थ होने की कामना

  • गृह मंत्री अमित शाह ने सौरव की पत्नी डोना गांगुली से फोन पर बात की। शाह ने सौरव का हाल जाना और उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की।
  • पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया है, सौरव गांगुली की खबर सुनकर दुख हुआ। उन्हें मामूली दिल का दौरा पड़ा है और अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मैं उनके जल्दी स्वास्थ होने की कामना करती हूं। मेरी प्रार्थनाएं उनके और उनके परिवार के साथ हैं
  • बोर्ड सेक्रेटरी जय शाह ने सोशल मीडिया पर कहा- मैंने दादा के परिवार से बातचीत की है। इलाज का उन पर अच्छा असर हो रहा है। मैं उनके जल्द सेहतमंद होने की कामना करता हूं।
  • टीम इंडिया के रेग्युलर कप्तान विराट कोहली और हेड कोच रवि शास्त्री ने गांगुली के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। दोनों ने सोशल मीडिया पर अपने मैसेज शेयर किए।
  • पश्चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फिरहद हकीम और मंत्री अरुप बिस्वास ने अस्पताल जाकर गांगुली का हालचाल जाना। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी अपनी पत्नी के साथ अस्पताल का दौरा किया और गांगुली की तबीयत की जानकारी ली।

 

 

 

 

 

 

सौरव गांगुली को भारत के सबसे सफल कप्तानों में गिना जाता है। गांगुली ने भारत के लिए 113 टेस्ट और 311 वनडे खेले। आपको बता दें कि सौरव गांगुली ने 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले ही टेस्ट में शतक जड़कर अपने टेस्ट करियर जोरदार आगाज किया था। उन्होंने 49 टेस्ट और 147 वनडे मैचों में भारत की कप्तानी की।

बाएं हाथ के स्टाइलिश बल्लेबाज सौरव गांगुली ने अपने करियर में 113 टेस्ट मैचों में 42.17 की औसत से 7212 रन बनाए, जिनमें 16 शतक और 35 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं 311 वनडे मैचों में उन्होंने 41.02 की औसत से 11363 रन बनाए, जिनमें 22 शतक और 72 अर्धशतक शामिल हैं। गांगुली ने टीम को ऐसे मुकाम पर पहुंचाया जो देश ही नहीं, बल्कि देश के बाहर भी जीतना जानती थी।

गांगुली की कप्तानी में ही टीम इंडिया 1983 के बाद 2003 में वर्ल्ड कप के फाइनल तक पहुंची। गांगुली की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम चैम्पियंस ट्रॉफी 2001 (श्रीलंका) और 2003 वर्ल्ड कप (दक्षिण अफ्रीका) के फाइनल में पहुंची। इसके अलावा भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में नेट वेस्ट सीरीज जीती, जिसके बाद उन्होंने लॉर्ड्स की बालकनी में कमीज उतारकर लहराई थी।

खबरें और भी हैं...