comScore

स्मृति की दिल्ली रैली से यमुना पर रहने वाले ग्रामीण भी जुड़ेंगे

June 13th, 2020 18:00 IST
 स्मृति की दिल्ली रैली से यमुना पर रहने वाले ग्रामीण भी जुड़ेंगे

हाईलाइट

  • स्मृति की दिल्ली रैली से यमुना पर रहने वाले ग्रामीण भी जुड़ेंगे

नई दिल्ली, 13 जून (आईएएनएस)। दिल्ली में यमुना नदी के पास चक चीला गांव के निवासी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की रैली में भी भाग लेंगे, क्योंकि पार्टी के नेताओं ने यहां उनके संबोधन के प्रसारण के लिए टेलीविजन और इन्वर्टर की व्यवस्था की है। यह जानकारी शनिवार को पार्टी के नेताओं ने दी।

ईरानी की रैली भाजपा के सुशासन प्रकोष्ठ के नेता वीरेंद्र सचदेवा द्वारा राष्ट्रीय राजधानी के गांव में आयोजित की जा रही है, जिन्होंने 25 मार्च से 14 मई तक राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान 55 दिनों के लिए गांव के 50 से अधिक निवासियों को भोजन के पैकेट उपलब्ध कराए हैं।

चक चीला गांव यमुना नदी में बसा है, जहां से दिल्ली-नोएडा-डायरेक्ट फ्लाईवे मयूर विहार और महारानी बाग को जोड़ता है।

यह गांव दिल्ली विधानसभा से सिर्फ सात से आठ किलोमीटर दूर स्थित है। गांव तक पहुंचने के लिए सबसे पहले यमुना खादर तक पहुंचना पड़ता है और फिर वहां से नाव की सवारी करनी होती है। गांव तक पहुंचने में नाव से लगभग 10-15 मिनट लगते हैं, जो कि हवा की गति और पानी के प्रवाह के आधार पर निर्धारित है और इसमें कुछ मिनट कम या अधिक भी लग सकते हैं।

सचदेवा ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, गांव नदी के बीच में स्थित है और लंबे समय तक राष्ट्रीय राजधानी और सरकार की योजनाओं से कट गया है।

उन्होंने कहा, हम नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष में शुरू की गई योजनाओं के बारे में चक चीला गांव के निवासियों को जागरूक करने के लिए रैली के प्रसारण की व्यवस्था कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह उन्हें दुनिया से जोड़ने की एक पहल है, क्योंकि वे शहर की सरकार से मदद मिले बिना यहां रह रहे हैं।

चक चीला गांव दिल्ली के पटपड़गंज विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इस इलाके से विधायक हैं।

हाई प्रोफाइल निर्वाचन क्षेत्र होने के बावजूद, गांव विकास से कटा हुआ है।

ग्रामीणों को राशन, दवाइयां और अन्य जरूरी सामानों के लिए नाव की सवारी करनी पड़ती है।

यहां तक कि पीने के पानी के लिए भी लोगों को ओखला की यात्रा करनी पड़ती है और अपने मोबाइल फोन को चार्ज करने के लिए वे सोलर लैंप पर निर्भर हैं।

यहां तक कि गांव के बच्चे भी ओखला में अपने स्कूलों और कॉलेजों तक पहुंचने के लिए नाव की सवारी करते हैं।

राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान भाजपा का सुशासन प्रकोष्ठ पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार फेज-1 इलाके में स्थित अपने सामुदायिक रसोईघर से तैयार भोजन के पैकेट गांववासियों को उपलब्ध कराता रहा है, क्योंकि बंद के कारण ग्रामीण बेरोजगार हो गए थे।

भाजपा नेता ने कहा कि पार्टी के दिल्ली महासचिव सिद्धार्थन भी ग्रामीणों के साथ सुदूर यमुना नदी की इस रैली में शामिल होंगे।

राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान चक चीला गांव में रहने वाले ग्रामीणों की दुर्दशा की रिपोर्ट करने वाला आईएएनएस सबसे पहला संस्थान है। यहां के लोगों को सरकार से कोई मदद नहीं मिल सकी है।

सचदेवा को उम्मीद है कि लगभग 15-20 वर्षों से गांव में निवास कर रहे ग्रामीण, पिछले छह वर्षों में मोदी सरकार द्वारा गरीबों की हितों में शुरू की गई नीतियों को पहचान पाएंगे।

दिल्ली भाजपा ने शनिवार शाम को ईरानी द्वारा संबोधित की जाने वाली रैली के माध्यम से राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम 25 लाख लोगों तक पहुंचने की योजना बनाई है।

ईरानी के संबोधन को सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, टेलीग्राम और अन्य माध्यमों पर प्रसारित किया जाएगा।

उनके संबोधन को दिल्ली भाजपा के सभी बड़े नेताओं के सोशल मीडिया अकाउंट्स से जुड़े लाखों लोग सुनेंगे।

कमेंट करें
HmKn0