comScore

कुंभ 2019: एयर इंडिया का तोहफा, दिल्ली-अहमदाबाद-कोलकाता से प्रयागराज के लिए स्पेशल फ्लाइट

January 06th, 2019 14:58 IST
कुंभ 2019: एयर इंडिया का तोहफा, दिल्ली-अहमदाबाद-कोलकाता से प्रयागराज के लिए स्पेशल फ्लाइट

हाईलाइट

  • एयर इंडिया ने श्रद्धालुओं को बड़ी खुशखबरी दी है।
  • एयर इंडिया ने प्रयागराज से देश के अलग-अलग इलाकों से फ्लाइट्स की घोषणा की है।
  • यह फ्लाइट दिल्ली, अहमदाबाद और कोलकत्ता से प्रयागराज तक चलाई जाएंगी।

डिजिटल डेस्क, प्रयागराज। विश्व में किसी भी धर्म द्वारा किया गया सबसे बड़ा आयोजन 'कुंभ मेला' 15 जनवरी से शुरू हो रहा है। लाखों की संख्या में लोग इस पावन पर्व में उपस्थित होते हैं। इसी को देखते हुए एयर इंडिया ने श्रद्धालुओं को बड़ी खुशखबरी दी है। एयर इंडिया ने प्रयागराज से देश के अलग-अलग इलाकों से फ्लाइट्स की घोषणा की है। यह फ्लाइट दिल्ली, अहमदाबाद और कोलकत्ता से प्रयागराज तक चलाई जाएंगी।

एयर इंडिया ने शुक्रवार को इसका ऐलान करते हुए कहा कि यह फ्लाइट 13 जनवरी से लेकर 30 मार्च तक अस्थाई रूप से चलाई जाएंगी। एयर इंडिया ने कहा, 'दिल्ली, अहमदाबाद और कोलकाता से यह फ्लाइट अलग-अलग दिनों पर चलाई जाएंगी। इससे श्रद्धालुओं को प्रयागराज से जोड़ने में मदद मिलेगी। हमें इसका ऐलान करते हुए बेहद खुशी हो रही है।'

एयर इंडिया ने कहा कि 'दिल्ली-प्रयागराज के बीच AI403 को चलाया जाएगा। यह सोमवार, बुधवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को चलाई जाएगी। वहीं अहमदाबाद-प्रयागराज के बीच यह फ्लाइट केवल बुधवार और शनिवार को चलाई जाएगी। जबकि कोलकाता और प्रयागराज के बीच यह फ्लाइट केवल शुक्रवार और रविवार को ऑपरेट की जाएंगी।'

इससे पहले प्राइवेट फ्लाइट कंपनी स्पाइस जेट ने भी श्रद्धालुओं के लिए प्रयागराज और दिल्ली के बीच डेली फ्लाइट चलाने की घोषणा की थी। स्पाइस जेट ने कहा था कि यह फ्लाइट 6 जनवरी से लेकर 30 मार्च तक चलाई जाएंगी। इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन से भी राज्य के विभिन्न हिस्सों से 500 बसों को चलाने का आग्रह किया था। 

वहीं इंडियन रेलवे ने भी कुंभ मेले के श्रद्धालुओं के लिए बड़ा ऐलान किया था। इंडियन रेलवे ने प्रयागराज के लिए देश के हर एक कोने से 800 स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला किया था। इनमें से 622 ट्रेनें नॉर्थ सेंट्रल रेलवे प्रशासन, 110 ट्रेनें नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे प्रशासन और 68 स्पेशल ट्रेनें ईस्टर्न रेलवे प्रशासन ऑपरेट करेगा। यह स्पेशल ट्रेनें 13 जनवरी से लेकर 6 मार्च तक चलेंगी। कुंभ के दौरान दिल्ली-वाराणसी के बीच नई बनी ट्रेन-18 भी चलाई जाएंगी।

बता दें कि प्रयागराज में कुंभ इस बार 15 जनवरी से शुरू होगा और करीब 50 दिनों तक चलेगा। पहला शाही स्नान 15 जनवरी यानि मकर संक्रान्ति के दिन होगा और 4 मार्च यानि महाशिवरात्रि तक चलेगा। इस बार कुंभ में करीब 10 से 15 करोड़ लोगों के आने की संभावना है। वहीं इसमें से करीब 20 लाख लोग कल्पवासी होंगे, जो कि गंगा के तट पर टेंट में रहेंगे। वहीं इस पर्व में करीब 10 लाख विदेशी लोगों के भी आने की संभावना है।

इस महाआयोजन के लिए प्रशासन ने यात्रा और ठहरने के प्रबंध के लिए पहले ही कमर कस चुकी है। इस बार का कुंभ श्रद्धालुओं की सुविधा के लिहाज से बिलकुल अलग होगा। प्रशासन के अनुसार इस बार 2000 की क्षमता वाले तीन सत्संग पंडाल के अलावा यात्रियों के स्नान करने के बाद ठहरने के लिए भी कई पंडाल बनाए जाएंगे। प्रत्येक पंडाल में 10,000 लोगों के बैठने की जगह होगी। इसके अलावा संतों के ठहरने के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। 

शासन के अनुसार इस बार के कुंभ में कई नई चीजें देखने को मिलेंगी। युवाओं के लिए सेल्फी पॉइंट से लेकर वाटर एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई है। वहीं नए श्रद्धालुओं के लिए एक इन्फॉर्मेशन डेस्क भी बनाया गया है, जिसका नाम अटल कॉर्नर रखा गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि इस बार के कुंभ मेले में संस्कृत ग्राम भी बनाया जाएगा। 10 एकड़ में बनाया जाने वाले इस ग्राम में श्रद्धालु कुंभ के महत्व और इसके इतिहास के बारे में जान पाएंगे। कुंभ मेले को यूनेस्को ने इनटैजिबल कल्चरल हेरिटेज ऑफ ह्यूमैनिटी का दर्जा दिया है।

कमेंट करें
JrxnQ