comScore

आतंकी हमले के बाद कश्मीर से अपने राज्य वापस लौट रहे बंगाली मजदूर

आतंकी हमले के बाद कश्मीर से अपने राज्य वापस लौट रहे बंगाली मजदूर

हाईलाइट

  • प्रशासन की मदद से 131 मजदूर वापस लौट रहे पश्चिम बंगाल
  • आतंकियों ने गोली मारकर की थी 5 मजदूरों की हत्या

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में मंगलवार को आतंकवादियों ने पश्चिम बंगाल के 5 मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद कश्मीर गए पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद के 131 मजदूर वापस अपने प्रदेश लौट रहे हैं। इन मजदूरों को प्रशासन की मदद से पश्चिम बंगाल लाया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदेश मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी ने अपने दो अधिकारियों को कश्मीर भेजा है। अब तक 9 मजदूरों को श्रीनगर लाया गया है। बाकी 122 मजदूरों को बारामूला से कल (शनिवार) बस के माध्यम से श्रीनगर लाया जाएगा।

इन मजदूरों की अपने राज्य लौटने की जानकारी सीएम ममता बनर्जी ने दी। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल के कुल 131 मजदूर जो कश्मीर गए थे, उन्हें राज्य सरकार की मदद से वापस उनके प्रदेश पश्चिम बंगाल लाया जा रहा है। साथ ही सीएम ममता ने बताया कि वे  सभी मजदूर मुर्शिदाबाद, दिनाजपुर और मालदा से हैं।

भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से आतंकवादी लगातार गैर कश्मीरियों को निशाना बना रहे हैं। मंगलवार को भी आतंकियों ने दूसरे राज्यों से काम करने आए 5 मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। बता दें कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद से बीते लगभग 20 दिनों में अब तक कश्मीर घाटी में चार ट्रक ड्राइवर मारे जा चुके हैं।

पुलवामा में आतंकियों ने स्कूल के बाहर गोलियां चलाई
वहीं मंगलवार को ही आतंकियों ने दूसरी घटना को अंजाम दिया था। आतंकियों ने मजदूरों को मारने से पहले पुलवामा में CRPF जवानों के एक गश्ती दल पर हमला बोला था। यह हमला द्रबगाम इलाके में एक स्कूल के पास हुआ था, जिसे छात्रों के लिए एग्जाम सेंटर को बनाया गया था। कुछ आतंकी जवानों पर फायरिंग करते हुए फरार हो गए। हमले में कोई घायल नहीं हुआ। आतंकियों की खोज के लिए इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन जारी है।

घाटी में अशांति फैलाने के लिए सक्रिय आतंकी
गौरतलब है कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से आतंकी लगातार घाटी में दहशत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। सोमवार को भी सोपोर में आतंकवादियों ने ग्रेनेड से हमला किया था। इस हमले में 15 लोग घायल हो गए थे। वहीं दिवाली से एक दिन पहले यानी 26 अक्टूबर को भी श्रीनगर के काकासराए में CRPF जवानों पर आतंकी ग्रेनेड से हमलाकर फरार हो गए थे। वहीं 24 अक्टूबर को भी आतंकियों ने कुलगाम स्थित CRPF कैंप पर ग्रेनेड से हमला किया था। इस हमले में CRPF का एक जवान घायल हो गया था। 7 अक्टूबर को भी श्रीनगर में हरि सिंह हाइट स्ट्रीट के पास आतंकियों के ग्रेनेड हमले में 7 घायल हो गए थे। 

कमेंट करें
aWX3b