comScore

 दैनिक भास्कर गरबा महोत्सव: चांदनी रात में संगीत की सरगम, डांडिया का जादू

 दैनिक भास्कर गरबा महोत्सव: चांदनी रात में संगीत की सरगम, डांडिया का जादू

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। बारिश की वजह से देर से ही सही लेकिन गरबा उत्सव की धूम में जरा भी कमी नहीं देखी गई। दैनिक भास्कर गरबा महोत्सव 2019 उसी रंग और ढंग के साथ गुरुवार रात शुरू हो हुआ। जैसा हर नवरात्र में होता है। शाम से ही पारंपरिक गरबा देखने शहरवासियों की भीड़ भास्कर गरबा में पहुंची। कैमरे को हाथ में लेकर किसी ने सेल्फी ली, किसी ने वीडियो बनाकर इन सुनहरे पलों को कैमरे में कैद किया। ओपन सर्किल में डांडिए खनकाते लोगों ने गगरी, सिंगल रास व जोड़ी रास किया। छतरी, गॉगल लेकर गरबा करते पार्टिसिपेंट्स के साथ पूरी संस्कारधानी शानदार गरबा की साक्षी बनी। यह नजारा रहा एमएलबी ग्राउंड परिसर में आयोजित दैनिक भास्कर गरबा महोत्सव 2019 का, जहाँ गुरुवार को गरबा का आगाज़ होते ही दर्शकों ने तालियों के साथ प्रतिभागियों का स्वागत किया। उल्लास और श्रद्धा की अनुभूतियों का संगम लिए माँ अंबे-जगदंबे को समर्पित इस गरबा का साक्षी पूरा शहर बना। भास्कर परिवार द्वारा माँ अम्बा की आरती के साथ गरबा का शुभारंभ हुआ।


ओपन सर्किल में भी जमा रंग पार्टिसिपेंट्स के साथ फैमिली मेंबर्स और दोस्तों का ग्रुप ओपन सर्किल में दिखाई दिया। गरबा गीतों पर हर किसी ने अपनों के साथ डांडिया खनकाया। शाम से ही सर्किल में भीड़ बढ़ती गई, बच्चों से लेकर बड़ों ने भी गरबा में कदम थिरकाए। डांडिया रास का उत्साह हर किसी के चेहरे में देखते ही बना।


कैमरे में कैद गरबा के शानदार पल जो भी गरबा देखने आया उसने उन पलों को अपने कैमरे में कैद किया। किसी ने सेल्फी ली तो किसी ने वीडियो बनाया। वहीं कुछ ने गरबा सर्किल में गरबा कर रहे पार्टिसिपेंट्स की खूबसूरत तस्वीरें कैद कीं। परिधानों और ज्वैलरी की चमक ने तस्वीरों को खूबसूरत बना दिया।


परिधानों की चमक, गुजरात सा उत्साह
समारोह में सबसे खास रहे इस बार के परिधान। लहरिया लहंगा, राजस्थानी कोटी, गोटेदार दुपट्टा, कलरफुल कुर्ता पैजामा पहने पार्टिसिपेंट्स पारंपरिक गरबे के रंग में रंगे नजर आए। इस बीच किसी ने गुजरात से लहंगा मंगवाया तो किसी ने अपने हाथों से लहंगे में गोटे और मिरर वर्क लगाकर एक्स्ट्रा शाइनिंग दी। वहीं मराठी धोत को भी स्टाइलिश तरीके से पहनकर गल्र्स ने गरबा किया।


ओ माँ ... तू काली है कल्याणी माँ-
एक ... दो ... तीन के साथ माँ जगदंबे की आरती जयो ... जयो माँ जगदंबे के साथ माँ आदिशक्ति की आरती की। हाथों में दीये लिए मंद-मंद मुस्कान के साथ प्रतिभागियों ने कतार में खड़े होकर आराधना की। फिर रिद्धी दे सिद्धी दे गीत के साथ गरबे की शुरूआत होते ही परिसर में तालियों की आवाज़ गूँज उठी। ऑर्केस्ट्रा में प्रसन्न श्रीवास्तव एवं प्रिया श्रीवास्तव की आवाज़ गूँजी। इसी के साथ उमेश सोनी, वीनू जोसफ, दिनेश, शेखर डे, शिवम पिल्ले, संतोष सोनी, हर्षित व नमन सोनी का सहयोग रहा। संचालन प्रदीप दुबे एवं राजेश मिश्रा ने किया।


आज के आकर्षण

  • दैनिक भास्कर पेपर की लहंगा चोली बनाकर पार्टिसिपेंट जिया ने सभी का दिल जीत लिया। गरबा करते हुए ये हर किसी के कैमरे में कैद हुईं। दो साल से भास्कर गरबा का हिस्सा बन इन्होंने अपनी खुशी जाहिर की।
  • छतरी, राजस्थानी पगड़ी के साथ एलईडी लाइट से सजी गगरी को लेकर गरबा करते हुए तानिया आकर्षण का केन्द्र रहीं।
  • मोर पंखों से बना मोर मुकुट को पहनकर अनोखे अंदाज में गरबा कर रही दिशा के साथ दर्शकों ने सेल्फी ली।

गरबे में कुछ हटकर

  • तिरंगा पगड़ी
  • पॉम पॉम पगड़ी
  • मराठी धोत
  • गॉगल
  • मोर पंख
  • एलईडी कुर्ता

लाइव गीतों संग थिरकाए कदम

  • भोर भई पनघट पे ... मोहे नटखट श्याम सताए
  • वो है रंगीला छैन छबीला
  • उड़ी-उड़ी जाए भक्तों की पतंग देखो उड़ी-उड़ी जाए
  • चल रे कवडिय़ा ... भोले के दर।
  • मन लेके आया माता रानी के भवन में
  • आज म्हारो गरबो घूमतो जाए
  • अंबे माँ से कह दो गरबा रमे रे
     
कमेंट करें
rj2mR