comScore

महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव, 24 को नतीजे, आचार संहिता लागू

महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव, 24 को नतीजे, आचार संहिता लागू

हाईलाइट

  • महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है। दोनों राज्यों में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को मतगणना होगी। शनिवार को चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव की तारीखों की घोषणा की। महाराष्ट्र और हरियाणा में आज से आचार संहिता भी लागू हो गई है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुनील अरोड़ा मीडिया को संबोधित करते हुए बताया, हरियाणा और महाराष्ट्र सरकार का कार्यकाल 2 और 9 नवंबर को खत्म हो रहा है। कार्यकाल खत्म होने से पहले चुनाव प्रक्रिया संपन्न कराई जाएगी। सुनील अरोड़ा ने बताया, आज (21 सितंबर) से दोनों राज्यों में आचार संहिता लागू हो गई है। हरियाणा और महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को चुनाव होंगे। 24 को वोटों की गिनती होगी। महाराष्ट्र में 8.9 करोड़ और हरियाणा में 1.82 करोड़ वोटर हैं।

सुनील अरोड़ा ने चुनावी कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया, दोनों राज्यों में 27 सितंबर को अधिसूचना जारी की जाएगी। 4 अक्टूबर तक नामांकन किया जा सकता है। 7 अक्टूबर तक नामांकन वापस लिए जा सकते हैं। इसके अलावा अलग-अलग राज्यों की 64 विधानसभा सीटों और बिहार की समस्तीपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव भी 21 अक्टूबर को होगा।

सुनील अरोड़ा ने कहा, प्रत्याशी के लिए चुनाव में खर्च की अधिकतम लिमिट 28 लाख रुपये रहेगी, ये नियम दोनों ही राज्यों में लागू होगा। चुनाव आयोग की ओर से खर्च पर भी नज़र रखी जाएगी। तारीखों के ऐलान से पहले चुनाव आयोग ने सुरक्षा का जायजा लिया और तैयारियों को परख कर चुनाव कराया जा रहा है। चुनाव आयोग की ओर से राजनीतिक दलों से अपील की गई है कि वह अपने प्रचार में प्लास्टिक का कम से कम इस्तेमाल करें और पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए अपने प्रचार को आगे बढ़ाएं।

चुनाव का ऐलान करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त कहा, EVM और VVPAT मशीनें इस बार डबल लॉक में रखी जाएंगी। कोई भी उम्मीदवार और उनके साथी एक निश्चित सुरक्षित दूरी से स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा पर निगाह रख सकते हैं।

गौरतलब है कि, महाराष्ट्र और हरियाणा दोनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकार है। इसी साल हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने प्रचंड जीत हासिल की है। विपक्षी दलों के सामने सबसे बड़ी चुनौती बीजेपी के विजयी रथ को रोकना है। वहीं बीजेपी फिर से सत्ता में वापसी के लिए जोर-शोर से प्रचार में जुटी हुई है। हरियाणा में मौजूदा विधानसभा की अवधि 2 नवंबर तक है। महाराष्ट्र में 9 नवंबर तक है। हरियाणा में विधानसभा की 90 सीटें और महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं। 

कमेंट करें
Ufb2E