comScore

बाढ़ -भाजयुमो नेता सहित चार लोग नदी में बहे , कई मार्ग बंद, मकान भी गिरे 

September 09th, 2019 20:07 IST
बाढ़ -भाजयुमो नेता सहित चार लोग नदी में बहे , कई मार्ग बंद, मकान भी गिरे 

रीजनल डेस्क, जबलपुर। पिछले 48 घंटों में रुक-रुककर हुई बारिश व बरगी डैम और सिवनी के भीमगढ़ बांध के गेट खोले जाने से संभाग के अधिकांश नदी-नाले उफान पर हैं। कई गांवों और नगरों को मुख्यालयों से संपर्क टूट गया है। बाढ़ के पानी में बहने की वजह से सिवनी में भाजयुमो नेता समेत दो लोगों की मौत हो गई। नरसिंहपुर, डोंगरगांव के बाघा नाला में भी टीकाराम चौधरी नामक व्यक्ति बह गया। रेस्क्यू टीम ने उसका शव खोज लिया है। हालांकि पिछले कुछ घंटों से बारिश का दौर थमा है, लेकिन रविवार रात को हुई बारिश के कारण मंडला, सिवनी, बालाघाट और नरसिंहपुर जिले में कई जगह जल भराव की स्थिति बनी हुई है। कई गांव टापू बन गए हैं। 
बालाघाट में टापू बने गांव 
नदी नालों में उफान की वजह से बालाघाट में सोमवार को भी कई कस्बों और गांवों का मुख्याल से सड़क संपर्क कटा रहा।भीमगढ़ जलाशय से छोड़े गए 90 हजार क्यूसेक  पानी के पहुंचते ही यहां वैनगंगा, देव, सोन एवं घिसर्री नदी पूरी तरह से उफान पर हैं। बालाघाट, परसवाड़ा, किरनापुर, लांजी समेत अन्य तहसीलों के दो सैकड़ा से भी अधिक गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। बालाघाट से करीब 7 किमी दूर ग्राम कुम्हारी में नाव के माध्यम से ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया। इसी तरह बैहर, लांजी, किरनापुर, वारासिवनी, खैरलांजी, कटंगी का भी संपर्क कटा रहा। कटंगी में जामनाला एवं परसवाड़ा-मंडला मार्ग पर नाला उफान पर रहा तो दूसरी तरफ लिंगा पुल पर भी सात फीट पानी रहा। 
सिवनी में दो की मौत 
वैनगंगा नदी के तेज उफान की जद में आकर कार समेत बहे दो युवकों की मौत हो गई। मृतकों में  सिवनी निवासी भाजयुमो उपाध्यक्ष जय सनोडिय़ा और उसका साथी सिंघोड़ी निवासी चंद्रशेखर सनोडिय़ा शामिल है। पुलिस के अनुसार चंदोरी निवासी दीपक सनोडिय़ा के साथ जय और चंद्रशेखर एक्ययूवी कार से सिवनी आ रहे थे। मुंगवानी के पास वैनगंगा नदी का पानी नाले के उपर से गुजर रहे थे। दीपक कार से उतरा और रास्ते के लिए पानी का स्तर देखने चला गया। इसी बीच जय व चंद्रशेखर कार से आगे बढ़े ही थे कि तेज बहाव के कारण वे कार समेत बह गए। किसी तरह दीपक ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सोमवार की सुबह रेस्क्यू के दौरान कार से कुछ दूरी पर दोनों युवाओं के शव मक्के के खेत में फंसे मिले।
नरसिंहपुर में कई मकान डूबे 
बरगी बांध के गेट खोले जाने की वजह से नरसिंहपुर जिले में भी नदी-नाले उफान पर हैं। यहां बाघा नाला में बहने से डोंगरगांव निवासी टीकाराम चौधरी की मौत हो गई। नर्मदा के झांसीघाट पुल पर पानी आ जाने की वजह गोटेगांव से जबलपुर जाने वाला रास्ता बंद रहा। यहां नर्मदा के केचमेंट एरिया में बने कुछ कच्चे मकान भी डूब गए। प्रशासन ने यहां नर्मदा के किनारे बसे लगभग 16 गांव में अलर्ट भी जारी किया है। वही एसडीएम जी सी डेहरिया ने बताया है की कल बरगी डेम के जो 21 गेट खोले गए थे उनमें से चार गेट बंद कर दिए गये है जिस्से पानी कम हो रहा है। वहीं ग्वारी गांव के करीब 20 लोगों ग्वारी स्कूल में शिफ्ट कराया गया है। 
नहाते समय नर्मदा नदी में डूबे युवक की तलाश  
  जबलपुर थाना ग्वारीघाट अंतर्गत  ललपुर घाट में आज दिनॉक 9-9-19 को सुबह 10-30 बजे  नर्मदा नदी में अपने 3-4 साथियों के साथ साहिल उर्फ मोनू पटेल उम्र 19 वर्ष निवासी ललपुर का नहा रहा था, नहाते समय साहिल पटेल 2 बार कूदा और बाहर आ गया, तीसरी बार कूदा तो उपर नहीं आया। होमगार्ड की रेस्क्यू टीम द्वारा नहाते समय डूबे साहिल पटेल की तलाश की जा रही थी किंतु शाम तक उसका कोई पता नहीं लग सका ।

कमेंट करें
M9rqI