comScore

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत नि:शुल्क कोचिंग बनी वरदान

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत नि:शुल्क कोचिंग बनी वरदान

डिजिटल डेस्क सतना। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनातंर्गत पुलिस भर्ती के लिए नि:शुल्क कोचिंग देने के लिए चलाया जा रहा सशक्त वाहिनी अभियान युवतियों, बालिकाओं के कॅरियर निर्माण में वरदान साबित हो रहा है। यह प्रशिक्षण प्राप्त करने पर ही देशभक्ति और जनसेवा की भावना के साथ जिले की तीन युवतियां पुलिस एवं अद्र्धसैनिक बल में भर्ती होकर अपना कॅरियर बना चुकी हैं। इन युवतियों का कहना है कि विभिन्न कोचिंग सेंटरों के जरिए लिखित परीक्षा पास करने का प्रशिक्षण तो हासिल किया जा सकता है, लेकिन शारीरिक प्रवीण्यता का प्रशिक्षण अन्य कोई संस्था नहीं दे सकती। 
किसने-किसने मारी बाजी
हासिल जानकारी के मुताबिक नागौद तहसील अंतर्गत हिलौंधा निवासी रीना लोधी का रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) में आरक्षक पद पर चयन हुआ है जबकि इसी तहसील के सेमरवारा गांव की रहने वाली नेहा सिंह परिहार और रामपुर बघेलान विकासखण्ड अंतर्गत पडख़ुरी निवासी सुधा कुशवाहा को एसएससी जीडी पद पर चयन किया गया है। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी सौरभ सिंह के अनुसार अक्टूबर 2017 से यह प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया था। 5 बैचो में अब तक संपन्न हुए प्रशिक्षण के माध्यम से 250 युवतियों को कुशल प्रशिक्षकों ने प्रशिक्षण दिया। इनमें से अभी तक 3 युवतियों का पुलिस एवं अद्र्धसैनिक बल में चयन भी हो गया है। 
महिला पुलिस भर्ती प्रशिक्षण का पंजीयन 14 तक
इस योजना के तहत चल रही नि:शुल्क कोचिंग में पढऩे के लिए बालिका/युवती की उम्र 18 से 28 वर्ष के बीच होना जरूरी है। इन्हें तीन माह का शारीरिक प्रवीण्यता तथा लिखित परीक्षा का प्रशिक्षण दिया जाता है। शारीरिक तथा शैक्षणिक योग्यता पूर्ण करने वाली युवतियों-महिलाओं को 3 माह का प्रशिक्षण एवं लिखित परीक्षा की तैयारी के लिए 14 अक्टूबर तक उनका पंजीयन सुबह साढ़े 10 बजे से शाम साढ़े 5 बजे तक जिला बाल संरक्षण अधिकारी कार्यालय मास्टर प्लान सिविल लाइन में किया जाएगा। श्री सिंह ने बताया कि पुलिस भर्ती का प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए जिले के दूर-दराज के क्षेत्रों से बड़ी संख्या में युवतियां, बालिकाएं आती हैं। प्रशिक्षण हासिल करने के बाद निर्धारित योग्यता रखने वाली युवतियां पुलिस/सेना की भर्ती प्रक्रिया में शामिल होकर सफलता हासिल कर सकती हैं।
 

कमेंट करें
oWrqf