comScore

विधानसभा चुनाव से पहले खट्टर का बयान, हरियाणा में लागू करेंगे NRC


हाईलाइट

  • हरियाणा में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (NRC) को लागू किया जाएगा
  • हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को इसकी घोषणा की

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। असम के बाद, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को घोषणा की कि राज्य में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (NRC) को लागू किया जाएगा। हालांकि यह कैसे और कब किया जाएगा, इसके बारे में उन्होंने ज्यादा जानकारी नहीं दी।

हरियाणा में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी राष्ट्रव्यापी जन संपर्क कार्यक्रम चला रही है। इसी के तहत खट्टर ने राज्य के पूर्व मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एचएस भल्ला (पुन:) और पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा सहित कई हस्तियों से मुलाकात की।

पंचकूला में भल्ला के सेक्टर 16 निवास के बाहर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए खट्टर ने कहा, 'जस्टिस भल्ला ने हरियाणा मानवाधिकार आयोग के अलावा अन्य पदों को भी संभाला। इन दिनों वह NRC पर काम कर रहे हैं। मैंने यह भी कहा कि हम एनआरसी को हरियाणा में लागू करेंगे और इसे लागू करने के बारे में उनका सहयोग मांगेंगे।

उन्होंने (जस्टिस भल्ला) ने यह सुझाव भी दिया कि हरियाणा में एक लॉ कमीशन होना चाहिए। अगर लोग इससे लाभान्वित होते हैं, तो हम राज्य में इसका गठन करेंगे।'

जस्टिस भल्ला ने कहा, 'मुख्यमंत्री से मेरी हरियाणा में एनआरसी और स्टेट लॉ कमीशन को लेकर बातचीत हुई। NRC वर्तमान में केवल असम में है। मुख्यमंत्री का भी मानना है कि हरियाणा में NRC होना चाहिए। निवासियों को एक कार्ड दिया जाना चाहिए कि वे राज्य के वास्तविक निवासी हैं।

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि आदर्श आचार संहिता सोमवार से लगाई जाएगी। इस प्रकार, वे फिलहाल एनआरसी पर काम नहीं कर सकते। लेकिन एक बार जब बीजेपी सत्ता में लौटती है, तो निश्चित रूप से इस पर काम किया जा सकता हैं।

कमेंट करें
iTfBA