comScore

शोपियां में मुठभेड़, मारा गया ISJK कमांडर इशफाक सोफी


हाईलाइट

  • सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी
  • आईएसजेके के कमांडर इशफाक अहमद सोफी का मार गिराया
  • जाकिर मूसा के बाद इशफाक आईएसजेके का बड़ा कमांडर था

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों को एक सफलता मिली है। सुरक्षा बलों ने शुक्रवार तड़के आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर (ISJK) के कमांडर इशफाक अहमद सोफी को मार गिराया। जाकिर मूसा के बाद इशफाक आईएसजेके का बड़ा कमांडर था। जाकिर मूसा अभी तक सुरक्षाबलों की नजरों से बचा हुआ है। कुछ महीनों पहले मूसा के पंजाब में छिपे होने की खबर सामने आई थी।

इशफाक अहमद सोफी जम्मू-कश्मीर के सोपोर का रहने वाला था। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान उसे शोपियां में मार गिराया। इशफाक अहमद को 'अब्दुल्ला भाई' के नाम से भी जाना जाता था। उसके पास से हथियार बरामद हुए हैं। इशफाक अहमद सोफी 2015 में हरकत-उल-मुजाहिदीन आतंकी संगठन से जुड़ा था। इसके बाद वर्ष 2016 में सोफी आईएसजेके आतंकी संगठन में शामिल हो गया था। 

इससे पहले सुरक्षाबलों ने बीते शुक्रवार को तीन आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए आतंकियों की पहचान लतीफ टाइगर और तारिक मौलवी के रूप में हुई थी। तीसरे आतंकी की पहचान नहीं हो पाई थी। मारा गया आतंकी लतीफ टाइगर हिजबुल कमांडर था और बुरहान वान गैंग का आखिरी कमांडर था। इससे पहले 25 अप्रैल को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहारा कस्बे में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे। सेना की तीन आरआर और एसओजी की संयुक्त टीम ने बंगंदर मोहल्ले में सर्च ऑपरेशन किया था। इसी दौरान आतंकियों ने गोलियां चलानी शुरू कर दी थी। जवाबी कार्यवाही में सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया। दोनों आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन से संबंध रखते थे।

कमेंट करें
GvRZK