comScore
Dainik Bhaskar Hindi

आतंकियों के समर्थन में महबूबा बोलीं- वे इसी मिट्टी के बच्चे, उन्हें बचाना चाहिए

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 16th, 2019 13:36 IST

1.5k
0
0

News Highlights

  • पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने अपने एक बयान में कश्मीरी उग्रवादियों का समर्थन किया।
  • महबूबा ने कहा- स्थानीय कश्मीरी उग्रवादी भी इसी मिट्टी के बच्चें हैं, हमें उन्हें बचाने की कोशिश करनी चाहिए।
  • महबूबा का यह बयान जम्मू-कश्मीर में उग्रवादियों के लगातार हो रहे एनकाउंटर के बाद आया है।


डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अपने एक बयान में कश्मीरी उग्रवादियों का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि स्थानीय उग्रवादी इसी मिट्टी के बच्चे हैं। हमारी कोशिश उन्हें मारना नहीं बल्कि बचाने की होनी चाहिए। महबूबा का यह बयान जम्मू-कश्मीर में हथियारबंद उग्रवादियों के सेना द्वारा हो रहे लगातार एनकाउंटर के बाद आया है।

दरअसल, महबूबा JNU में लगे देशद्रोही नारों के मामले में चार्जशीट पेश होने से जुड़े सवालों का जवाब दे रही थीं। इस चार्जशीट में सात कश्मीरी छात्रों के नाम आने से वे नाराज थीं। उन्होंने इस चार्जशीट पर कहा कि JNU मामले में जो चार्जशीट पेश की गई है, वह बिल्कुल गलत है। उन्होंने कहा, 'ऐसा महसूस हो रहा है कि 2019 के चुनाव की तैयारी में जम्मू-कश्मीर के लोगों को फिर से मोहरा बनाया जा रहा है। उनको इस्तेमाल किया जा रहा है। वोट की राजनीति हो रही है।'

महबूबा ने कहा, '2014 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने अफजल गुरू को फांसी ये सोचकर दी थी कि शायद इस तरह से उनको कामयाबी मिलेगी। आज बीजेपी वही दोहरा रही है। उन्होंने कन्हैया, उमर खालिद के अलावा सात से आठ कश्मीरी छात्रों के खिलाफ चार्जशीट पेश की है।'

पीडीपी चीफ ने इस दौरान बीजेपी के साथ गठबंधन टूटने से जुड़े सवालों के भी जवाब दिए। उन्होंने कहा, 'हमने बीजेपी के साथ हाथ इसलिए मिलाया था क्योंकि जनमत उनके साथ था। हमने सोचा था कि वाजपेयी जी ने जिस तरह जम्मू-कश्मीर के मुद्दों को संभाला था, पाकिस्तान और हुर्रियत से जो बातचीत की थी, वैसा ही हम केन्द्र के साथ मिलकर फिर से करेंगे, लेकिन पीएम मोदी, वाजपेयी जी के रास्तों पर नहीं चले।'
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download