comScore

करतारपुर कॉरिडोर : भारत-पाकिस्तान के बीच जल्द हो सकती है बातचीत

करतारपुर कॉरिडोर : भारत-पाकिस्तान के बीच जल्द हो सकती है बातचीत

हाईलाइट

  • भारत ने करतारपुर कॉरिडोर के लिए पाकिस्तान को बातचीत का दिया प्रस्ताव
  • इससे पहले दोनों देशों के बीच बातचीत 14 मार्च को अटारी-वाघा सीमा पर हुई थी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत ने करतारपुर कॉरिडोर के लिए पाकिस्तान को बातचीत के लिए प्रस्ताव दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार के अनुसार, दोनों देशों के बीच वार्ता जुलाई के दूसरे हफ्ते में हो सकती है। वहीं भारत वीजा सहित लंबे वक्त से लंबित पड़े अन्य मसलों पर चर्चा करेगा। बता दें कि हाल में पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे को लेकर भारत के प्रस्तावों को मानने से इनकार कर दिया था। पाकिस्तान ने कुछ नियम और शर्तें दी थी। 

अटारी-वाघा बॉर्डर पर बातचीत

दोनों देशों के बीच पहले दौर की बातचीत 14 मार्च 2019 को अटारी-वाघा बॉर्डर पर हुई थी। इससे पहले 2 अप्रैल को दूसरे दौर की बातचीत होने वाली थी, लेकिन पाकिस्तान से कॉरिडोर से जुड़ी एक समिति में खालिस्तान समर्थक नेता गोपाल सिंह चावला की नियुक्ति के बाद वार्ता रद्द हो गई थी। अब भारत सरकार ने सभी विवादों को सुलझाने के साथ जल्द गलियारे निर्माण को लेकर पाक के सामने 11 से 14 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव दिया है। 

पाक ने किया 50% से ज्यादा काम

पाकिस्तान मीडिया के अनुसार पाक ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर 50 प्रतिशत से ज्यादा का काम पूरा कर लिया है। भारत सरकार इस प्रोजेक्ट को 30 सितंबर तक पूरा करने की योजना है। वहीं पाकिस्तान सरकार वीजा के नाम पर श्रद्धालुओं से मोटी रकम वसूलने की तैयारी में लगा हुआ है। पाक प्रत्येक श्रद्धालुओं से करीब 3000 रुपए वसूल सकता है। भारत ने इसका विरोध किया है। भारत सरकार ने कहा है कि धार्मिक यात्रा के लिए कोई भी फीस नहीं वसूली जानी चाहिए। पाकिस्तान ने दर्शन के लिए पासपोर्ट जरूरी होने की शर्त भी रखी है। 
 

कमेंट करें
vjxy1