comScore

चुनाव आयोग की कार्रवाई पर मायावती नाराज, बोलीं.. मेरा पक्ष सुने बिना सुना दिया फैसला

चुनाव आयोग की कार्रवाई पर मायावती नाराज, बोलीं.. मेरा पक्ष सुने बिना सुना दिया फैसला

हाईलाइट

  • बसपा सुप्रीमो ने जताई नाराजगी
  • कार्रवाई को बताया एक तरफा
  • ईसी ने लगाया है 48 घंटे का प्रतिबंध

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चुनाव आयोग की सख्ती पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ऐतराज जताया है, मायावती ने सोमवार रात 9 बजे प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि चुनाव आयोग ने अपने नोटिस में कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं किया है कि मैंने भड़काउ भाषण दिया है। बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि हमें हमारे अधिकारों से वंचित करने की कोशिश की जा रही है।

मायावती ने कहा कि मेरा पक्ष सुने बिना ही चुनाव आयोग ने अपना फैसला सुना दिया है, मोदी और शाह को कुछ भी बोलने की खुली छूट दी हुई है, उन्होंने कहा कि यह चुनाव आयोग के इतिहास का काला आदेश है, ऐसा लग रहा है जैसे किसी के दबाव में आकर ये फैसला लिया गया है।

बता दें कि चुनाव आयोग ने बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती पर 48  घंटे का प्रतिबंध लगाया है, जो मंगलवार सुबह 6 बजे से शुरू हो जाएगा। मायावती ने चुनाव प्रचार के दौरान यूपी के सुल्तानपुर में मुसलमानों से गठबंधन को ही वोट देने की बात कही थी, उन्होंने कहा था कि मैं मुस्लिम समाज से अपील करती हूं कि अपने वोटों को बंटने न दें, यूपी में सपा, बसपा और आरएलडी के उम्मीदवारों को ही वोट दें।

कमेंट करें