comScore

पहाड़ों की रानी 'मसूरी' में पीएम मोदी, ट्रेनी IAS को करेंगे संबोधित

October 26th, 2017 15:41 IST
पहाड़ों की रानी 'मसूरी' में पीएम मोदी, ट्रेनी IAS को करेंगे संबोधित

डिजिटल डेस्क,मसूरी। आज से पीएम नरेंद्र मोदी 2 दिवसीय पहाड़ों की रानी कहे जाने वाले 'मसूरी' दौरे पर रहेंगे। पीएम मोदी इस दौरान लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी (एलबीएसएनए) में ट्रेनी IAS अफसरों से मुलाकात करेंगे और उन्हें संबोधित भी करेंगे। मोदी का मसूरी दौरा 2 वजहों से खास है, पहला तो इसलिए कि 42 साल बाद कोई पीएम मसूरी जा रहे हैं। सबसे पहले मसूरी भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने प्रधानमंत्री रहते हुए 1948, 1950, 1958, 1959 और 1960 में 5 बार मसूरी गए थे। वहीं 1975 में इंदिरा गांधी मसूरी के दौरे पर आई थी। नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद पीएम मोदी मसूरी दौरे पर पहुंच रहे हैं। मोदी के मसूरी दौरे की खास बात ये है कि एक हफ्ते के अंदर मोदी का ये दूसरा उत्तराखंड दौरा है। इससे पहले मोदी 20 अक्टूबर को केदारनाथ गए थे। 

ये भी पढ़े-पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

इस बार पीएम 26 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे मसूरी पहुंचें। उन्होंने एलबीएसएनए में सरदार पटेल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के साथ ही वहां पौधरोपण किया। इसके बाद  ट्रेनी IAS के साथ ग्रुप फोटो कार्यक्रम और फैकल्टी सदस्यों के साथ मीटिंग करेंगे। ट्रेनी अधिकारियों से इंट्रोडक्शन के बाद शाम को उनकी ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रमों आयोजन किया गया है। कार्यक्रम के बाद मोदी ट्रेनी अधिकारियों के साथ डिनर करेंगे।

ये भी पढ़े- गुजरात चुनाव : ओपिनियन पोल में बीजेपी को बहुमत

27  अक्टूबर की सुबह प्रधानमंत्री ट्रेनी अधिकारियों और केंद्रीय विद्यालय के छात्रों के साथ योग करेंगे और इसके बाद वो नए हॉस्टल भवन और सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रेक की शुरूआत करेंगे। बाद में वो अकादमी ज्ञान कार्यक्रम में शिरकत करेंगे और अवॉर्ड सेरेमनी में भाग लेंगे। अखिर में वो ट्रेनी IAS को संबोधित कर दिल्ली रवाना हो जाएंगे। एलबीएस एकेडमी के दौरे के मद्देनजर कड़े सुरक्षा इंतेजाम किए गए हैं। 

केदारनाथ में किया था 5 योजनाओं का शिलान्यास 

पीएम मोदी ने 20 अक्टूबर को अपने उत्तराखंड दौरे में केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की थी। मोदी ने मंदिर में रुद्राभिषेक किया। प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक पूजा की। यहां पीएम ने 5 योजनाओं का शिलान्यास किया। पीएम ने अपने भाषण की शुरुआत जय-जय केदार के उद्घोष से की। उन्होंने गढ़वाली भाषा में भी भाषण दिया था।

कमेंट करें
E0WGc