comScore

नन रेप केस: आरोपी बिशप के खिलाफ समन, केरल सरकार ने कहा- पीड़िता को न्याय मिलेगा

September 13th, 2018 08:14 IST
नन रेप केस: आरोपी बिशप के खिलाफ समन, केरल सरकार ने कहा- पीड़िता को न्याय मिलेगा

हाईलाइट

  • नन से रेप के मामले में पुलिस ने आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल को जारी किया समन
  • पुलिस ने 19 सितंबर को आरोपी बिशप को पूछताछ के लिए बुलाया।
  • केरल के मंत्री बोले- सरकार पीड़िता के साथ है और उन्हें न्याय जरुर मिलेगा।

डिजिटल डेस्क, कोट्टायम। केरल में नन से रेप के मामले में पुलिस ने आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल को समन जारी किया है। पुलिस ने बिशप फ्रैंको को पूछताछ के लिए 19 सितंबर को बुलाया है। इधर, केरल सरकार में मंत्री ईपी जयाराजन ने कहा है कि पीड़िता को चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। सरकार पीड़िता के साथ है और उन्हें न्याय जरुर मिलेगा।

बिशप के खिलाफ समन जारी
केरल IG विजय साकरे ने बताया है कि बिशप फ्रेंको को 19 सितंबर को पूछताछ के लिए बुलाया है। उन्होंने बताया, 'इस केस में बहुत सी उलझनें हैं। बयानों में मतभेद पाए गए हैं। यह एक पुराना मामला है जो मौखिक सबूतों पर आधारित है। हमने इस केस की कई उलझनों को दूर किया है और इसे पूरी तरह सुलझाने का प्रयास कर रहे हैं। यह हमारा कर्तव्य है कि हम पीड़ित और गवाहों की सुरक्षा करें।'

सरकार नन के साथ
केरल सरकार में मंत्री ईपी जयाराजन ने कहा, 'सरकार पीड़िता के साथ है। उन्हें चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। हम सही समय पर सही फैसला लेंगे। पुलिस आरोपी को सही सबूतों के आधार पर गिरफ्तार करेगी। जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है। कोई भी शख्स महिला को यूं अपमानित नहीं कर सकता।'

यह है मामला
इस साल जुलाई में जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ केरल के कोट्टायम में रेप और शारीरिक उत्पीड़न की शिकायत दर्ज हुई थी। शिकायत के अनुसार, जालंधर के बिशप काम के सिलसिले में अक्सर केरल आते रहते थे। इस दौरान उन्होंने कई बार नन के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया। मामला सामने आने के बाद आरोपी बिशप की गिरफ्तारी की मांग को लेकर केरल में कई जगह प्रदर्शन जारी हैं। फिलहाल इस मामले में जांच जारी है।

वेटिकन पहुंच चुका है मामला
बता दें कि नन से रेप का यह मामला वेटिकन चर्च भी पहुंच गया है। पीड़ित नन ने इस मामले में भारत में वेटिकन सिटी के राजदूत जियामबटिस्टा दिक्वॉत्रो को पत्र लिखकर अपनी शिकायत दर्ज कराई है। इस पत्र में लिखा गया है कि बिशप मुलक्कल ने साल 2014 से 2016 के बीच उसका शारीरिक उत्पीड़न किया और पैसे व राजनीतिक ताकत का इस्तेमाल इस केस को दबाने का प्रयास किया। नन ने पोप से इस मामले में तुरंत दखल की मांग की है।

कमेंट करें
hL3Xu