comScore

अब नकली नोट के जरिए भारत को चोट पहुंचाने की कोशिश कर रहा पाक

अब नकली नोट के जरिए भारत को चोट पहुंचाने की कोशिश कर रहा पाक

हाईलाइट

  • अच्छी गुणवत्ता वाले नकली नोटों की बड़े पैमाने पर स्मगलिंग कर रहा पाकिस्तान
  • नेपाल, बांग्लादेश और दूसरे देशों से भारत में नकली नोट पहुंचा पाक
  • काठमांडू और ढाका में पकड़े जा चुके हैं करोड़ों के नकली नोट

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत सरकार द्वारा कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान किसी न किसी तरह से भारत को नुकसान पहुंचाने की कोशिश में लगा हुआ हैं। पहले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस्लामो​फोबिया के नाम पर खाड़ी देशों में भारत की छवि को धूमिल करने की कोशिश की, लेकिन उसे हर जगह मूंह की खानी पड़ी। अब जब किसी भी देश ने पाकिस्तान का सा​थ नहीं दिया तो वह भारत को चोट पहुंचाने के लिए नकली नोट का सहारा ले रहा है।

एक खुफिया जांच में पता चला है कि पाकिस्तान अच्छी गुणवत्ता वाले नकली नोटों की बड़े पैमाने पर स्मगलिंग कर रहा है, ताकि इन नकली नोटों के जरिए गैर-कानूनी गतिविधियों और आतंकी समूहों को भारत में बढ़ावा दिया जा सके। फेक इंडियन करंसी नोट (एफआईसीएन) यानी नकली नोटों को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों तक पहुंचाने का भी काम हो रहा है। सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई इस बार ज्यादा बेहतर गुणवत्ता वाले नकली नोटों को बना रहा है। पहले के फोटोकॉपी नोट्स की तुलना में ये नोट काफी अच्छी क्वॉलिटी के हैं। 

नेपाल-बांग्लादेश के जरिए भारत में आ रहे नकली नोट

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बड़ी संख्या में पाकिस्तान से नकली नोटों को 2016 से पहले के अपने नेटवर्क और चैनलों के जरिए व्यवस्थित तरीके से भारत में लाने का काम किया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार चौंकानेवाली बात ये है कि पाकिस्तान इसके लिए कूटनयिक मार्गों का भी दुरुपयोग कर रहा है। नेपाल, बांग्लादेश और दूसरे देशों के माध्यम से पाकिस्तान नकली नोटों को भारत में पहुंचाने का काम कर रहा है।

काठमांडू से पकड़े थे 76.7 मिलियन के नकली नोट

इसी साल मई में नेपाल के काठमांडू एयरपोर्ट से डी-कंपनी से जुड़े यूनुस अंसारी को अरेस्ट किया। उसके साथ 3 पाकिस्तानी नागरिक भी गिरफ्तार किए गए थे। इनके पास से 76.7 मिलियन के भारतीय मुद्रा के नकली नोट बरामद किए गए। 22 सितंबर को खालिस्तान समर्थक खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के पास से 1 करोड़ रकम के नकली नोट बरामद किए थे। इस ग्रुप के पास से पुलिस ने 5 एके-47 राइफल्स, 30 बोर पिस्टल, 9 हैंड ग्रेनेड, 5 सैटलाइट फोन, 2 मोबाइल फोन भी बरामद किए गए थे। यह सारा सामान पाकिस्तानी ड्रोन्स के जरिए पहुंचाया गया था।

ढाका में 4.95 मिलियन की नकली करंसी पकड़ी गई

25 सितंबर को ढाका से पुलिस ने 4.95 मिलियन के नकली नोट बरामद किए थे। दुबई के रहनेवाले सलमान शेरा ने यह पार्सल सिलहट बांग्लादेश में भेजा था। जांच में पता चला है कि पार्सल सिलहट से श्रीनगर के उपाजिला में पहुंचाया जाना था। जांच में खुलासा हुआ कि सलमान शेरा पाकिस्तान के आईएसआई से जुड़े कुख्यात असलम शेरा का बेटा है। 
असलम 90 के दशक से नकली करंसी के बारोबार में है।

नोटबंदी से आतंकियों की नहीं कर पा रहा था मदद
ज्ञात हो ​कि भारत के प्रधानमंत्री द्वारा 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी करने बाद से आतंकवादियों और भारत में नकली नोटों के जरिए गैरकानूनी कारोबार करने वालों को गहरा सदमा लगा था। नोटबंदी के बाद भारत विरोधी संगठन भारत में अपने जासूसों और आतंकियों को आर्थिक मदद नहीं पहुंचा पा रहे थे। अब जब पाकिस्तान को कश्मीर मुददे पर किसी भी देश से मदद नहीं मिल रही है तो ऐसे में वह भारत को नुकसान पहुंचाने के लिए छटपटा रहा है। इसके लिए पाकिस्तान नकली नोटों को अलग-अलग देशों के रास्ते भारत में खपाने की लगातार कोशिशें कर रहा है।

कमेंट करें
VfHI3