comScore

मिशन बंगाल: ममता के गढ़ पहुंचे PM मोदी, जनसभा को संबोधित कर रहे हैं

February 08th, 2019 18:51 IST
मिशन बंगाल: ममता के गढ़ पहुंचे PM मोदी, जनसभा को संबोधित कर रहे हैं

हाईलाइट

  • ममता के गढ़ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
  • पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में रैली को संबोधित करेंगे।
  • राष्ट्रीय राजमार्ग-31 डी के फलाकाटा-सलसलाबाड़ी खंड को चार लेन किए जाने की आधारशिला रखेंगे।

डिजिटल डेस्क, कोलकाता।

लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी बंगाल जीतने पर ज्यादा जोर दे रही है। जिसके चलते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक सप्ताह के भीतर आज (शुक्रवार) को बंगाल में तीसरी रैली को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी जलपाईगुड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग-31 डी के फलाकाटा-सलसलाबाड़ी खंड को चार लेन किए जाने की आधारशिला रखेंगे। पीएमओ से जारी एक बयान में कहा गया कि मोदी जलपाईगुड़ी में उच्च न्यायालय की नई सर्किट बेंच का भी उद्घाटन करेंगे।

पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की रैली स्थल के लिए मंजूरी को लेकर भी भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक मोदी जिले में रैली के लिए उसी मंच का इस्तेमाल किराए पर सकते है, जिस मंच का इस्तेमाल ममता बनर्जी ने किया था। पीएम मोदी इसी मंच से ममता के आरोपों का 'माकूल' जवाब देंगे और चुनावों से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भी भरेंगे। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा,पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश देने के अलावा हमें उम्मीद है कि मोदी जी तृणमूल कांग्रेस के असंवैधानिक धरने का भी समुचित जवाब देंगे। 

पीएम मोदी जलपाईगुड़ी में राष्ट्रीय राजमार्ग-31 डी के फलाकाता-सलसलाबाड़ी खंड को चार लेन किये जाने की आधारशिला रखेंगे। पीएमओ से जारी एक बयान में कहा गया कि राष्ट्रीय राजमार्ग का यह 41.7 किलोमीटर लंबा खंड पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में आता है और इसे करीब 1938 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जाएगा। पीएम मोदी जलपाईगुड़ी में हाईकोर्ट की नई सर्किट बेंच का भी उद्घाटन करेंगे। 

तृणमूल सरकार केंद्र और तृणमूल सरकार के बीच टकराव गुरुवार को उस समय और बढ़ गया जब राज्य सरकार ने आरोप लगाया कि शुक्रवार को प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए जाने वाले कलकत्ता उच्च न्यायालय की बहुप्रतीक्षित जलपाईगुड़ी सर्किट बेंच के उद्घाटन के बारे में न सिर्फ अंधेरे में रखा, बल्कि आमंत्रित भी नहीं किया।

कमेंट करें
IJYte