comScore

शिवसेना विधायक दल के नेता चुने गए एकनाथ शिंदे,आदित्य ठाकरे ने रखा था प्रस्ताव


हाईलाइट

  • शिवसेना विधायक दल की बैठक
  • एकनाथ शिंदे चुने गए विधायक दल के नेता

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भाजपा और शिवसेना के बीच तकरार जारी है। दोनों पार्टियों के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर झगड़ा हो रहा है। जहां बीजेपी ने देवेंद्र फडणवीस को अपना विधायक दल का नेता चुना है। वहीं गुरुवार (आज) बैठक में शिवसेना ने एकनाथ शिंदे को नेता चुना गया। जबकि सुनील प्रभु को विधानसभा में चीफ व्हिप चुना है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आदित्य ठाकरे ने शिंदे के नाम का प्रस्ताव दिया था।

विधायक दल की बैठक के बाद शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे, एकनाथ शिंदे, दिवाकर रावते और सुभाष देसाई राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने जाएंगे। 

शिवसेना की सीएम पद को लेकर सख्ती बरकरार है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हम अपनी मांग से पीछे नहीं हटे हैं, बल्कि बीजेपी अपने वादे से मुकर गई है। 

बीजेपी ने दिया ऑफर

शिवसेना की बैठक से पहले बीजेपी की ओर से ऑफर की बात सामने आई है। सूत्रों के अनुसार भाजपा सरकार गठन के लिए शिवसेना को 13 मंत्रालय और एक डिप्टी सीएम पद का ऑफर कर सकती है। 

विपक्ष में बैठेगी राकांपा और कांग्रेस

प्रदेश राकांपा प्रमुख जयंत पाटिल ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी और उसकी सहयोगी कांग्रेस जनादेश के मुताबिक राज्य में विपक्ष में बैठेगी। राज्य में सरकार गठन में शिवसेना का राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) द्वारा समर्थन किये जाने की संभावना की अटकलों के बीच पाटिल की यह टिप्पणी आई है। पाटिल ने कहा कि-हमें लोगों ने विपक्ष में बैठने के लिए जनादेश मिला है। और हम यह कर्तव्य निभाएंगे। गौरतलब है कि मंगलवार को राकांपा के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा था कि यदि भाजपा विधानसभा में बहुमत जुटाने में नाकाम रहती है तो उस स्थिति में एक वैकल्पिक सरकार बनाने पर विचार किया जा सकता है। 

शिवसेना-कांग्रेस का कभी नहीं हो सकता मिलनः चव्हाण

पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा कि सत्ता को लेकर भारतीय जनता पार्टी व शिवसेना के बीच जारी खीचतान एक दिखावा व स्टंट है। शिवसेना व कांग्रेस कभी एक साथ नहीं आ सकते। इसके अलावा कांग्रेस नेता माणिकराव ठाकरे ने कहा कि हम आगामी 5 नवंबर से 15 नवंबर के बीच बेरोजगारी व आर्थिक मंदी को लेकर राज्य व्यापी मोर्चा निकालेंगे। किसानों कि मदद के मुद्दे को लेकर कांग्रेस जल्द ही राज्यपाल से मुलाकात करेगी। 
 

कमेंट करें
SxhsI