comScore

ICMR की रिपोर्ट में खुलासा, स्वस्थ भारतीयों पर एंटीबायोटिक दवाएं बेअसर

ICMR की रिपोर्ट में खुलासा, स्वस्थ भारतीयों पर एंटीबायोटिक दवाएं बेअसर

हाईलाइट

  • इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की रिपोर्ट में हुआ खुलासा
  • स्वस्थ भारतीयों पर अब एंटीबायोटिक दवाएं बेअसर हो रही हैं
  • अध्ययन में पता चला 3 में से 2 स्वस्थ भारतीयों पर दवाओं का कोई असर नहीं हुआ

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीयों के शरीर में एंटीबायोटिक दवाओं का असर लगातार कम होता जा रहा है। इसका खुलासा इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की तरफ से किए सर्वेक्षण में हुआ है। रिसर्च रिपोर्ट में पता चला है कि, स्वस्थ भारतीयों पर अब एंटीबायोटिक दवाएं बेअसर हो रही हैं। अध्ययन में पाया गया कि, तीन में से दो स्वस्थ भारतीयों पर इन दवाओं का कोई असर नहीं हुआ। 

दरअसल यह एक चिंता का विषय है। क्योंकि स्टडी में पता चला है कि भारतीयों में अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक का इस्तेमाल किया गया और अब उनके शरीर पर दवा का असर होना बंद हो गया है। जानकारी के मुताबिक, अध्ययन के लिए 207 स्वस्थ भारतीयों को चुना गया था, जिन्होंने बीते एक महीने में किसी भी एंटीबायोटिक का इस्तेमाल नहीं किया और ना ही बीमार पड़े। परीक्षण में पाया गया कि 207 में से 139 लोगों पर एंटीबायोटिक का असर नहीं हुआ। इन लोगों पर एक और एक से अधिक एंटीबायोटिक बेअसर रहीं। जिन दो एंटीबायोटिक सेफलफोरिन्स (60 फीसदी) और फ्लूऑरोक्यिनोलोनस (41.5 फीसदी) का सबसे अधिक इस्तेमाल होता है, ऐसी दवाएं निष्प्रभावी रहीं।

रिपोर्ट के बाद वरिष्ठ डॉक्टर इन नतीजों को बेहद गंभीर मान रहे हैं। इससे भविष्य में परेशानी बढ़ने की संभावना है। पीजीआई चंडीगढ़ में माइक्रोबायलॉजी के प्रोफेसर डॉक्टर पल्लब रे का कहना है, अध्ययन स्पष्ट करता है कि एंटीबायोटिक का इस्तेमाल जिस अनुपयुक्त तरीके से किया गया है, उसका असर इंसान के शरीर पर बेहद गलत तरीके से पड़ा है। उन्होंने कहा, इन नतीजों से ऐसा लग रहा है कि एंटीबायोटिक के बेअसर होने का स्तर निचले स्तर पर है, अगर भविष्य में सुधार नहीं हुआ तो यह स्तर और बढ़ भी सकता है।

कमेंट करें
XVO4q