comScore

उद्धव का फडणवीस पर पलटवार, कहा- अमित शाह सीएम पद शेयरिंग को तैयार थे

उद्धव का फडणवीस पर पलटवार, कहा- अमित शाह सीएम पद शेयरिंग को तैयार थे

हाईलाइट

  • भाजपा और शिवसेना के बीच दरार बढ़ती जा रही है
  • दोनों दलों ने सरकार बनाने के गतिरोध के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराया है

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भाजपा और शिवसेना के बीच दरार बढ़ती जा रही है, क्योंकि दोनों दलों ने सरकार बनाने के गतिरोध के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराया है। कार्यवाहक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना प्रमुख पर झूठ बोलने का आरोप लगाया और सीएम पद पर समान बंटवारे के शिवसेना के दावों का खंडन किया। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने फडणवीस के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि अमित शाह इसके लिए सहमत थे।

देवेंद्र फडणवीस के बाद उद्धव ठाकरे ने शिवसेना भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, 'मैं बालासाहेब की तरह सच के साथ खड़ा हूं। मुझ पर झूठ बोलने के आरोप लग रहे हैं। अमित शाह बात करने मुंबई आए थे। मैंने सीएम पद को लेकर अमित शाह से स्पष्ट रूप से बात की थी। सबको पता है झूठ कौन बोल रहा है।'

ठाकरे ने कहा, 'देवेंद्र फडणवीस से ऐसे बयान की उम्मीद नहीं थी। बीजेपी भूल गई कि दुष्यंत चौटाला ने उनके लिए क्या कहा था। शिवसेना झूठ बोलने वालों की पार्टी नहीं है। मैंने कभी पीएम मोदी पर आरोप नहीं लगाए। मैं बीजेपी वाला नहीं हूं। झूठ नहीं बोलता। मैं झूठ बोलने वालों से बात नहीं करता। मैंने कभी दुष्यंत चौटाला जैसी भाषा का प्रयोग नहीं किया।'

उद्धव ने कहा 'मुझे जो सिखाया गया है, वह यह है कि शब्द देने से पहले एक बार नहीं, 4 बार, एक लाख बार सोचें, यदि आप इससे अधिक करना चाहते हैं, तो करें। लेकिन एक बार जब आपने शब्द दे दिए, तो आप पीछे नहीं हट सकते। मैं इस बात से दुखी हूं कि ठाकरे परिवार के किसी सदस्य पर पहली बार झूठ बोलने का आरोप लगाया गया है।'

उद्धव ने कहा 'मैं देवेंद्रजी को बताना चाहता हूं, चाहे अमित शाह और कंपनी हम पर कितने भी झूठे आरोप लगा लें, जनता को अच्छी तरह पता है कि कौन झूठ बोल रहा है और कौन सच बोल रहा है? मैंने बालासाहेब से वादा किया था कि एक दिन शिवसेना का मुख्यमंत्री बनेगा और मैं उस वादे को पूरा करूंगा, इसके लिए मुझे अमित शाह और देवेन्द्र फडणवीस की जरूरत नहीं है।'

उद्धव ने कहा 'यह बहुत दुखद है कि गंगा की सफाई करते हुए उनके (बीजेपी) दिमाग प्रदूषित हो गए हैं। मुझे बुरा लगा कि हमने गलत लोगों के साथ गठबंधन किया।'

उद्धव ने कहा 'हमने चर्चा के लिए दरवाजे कभी बंद नहीं किए, उन्होंने (भाजपा) हमसे झूठ बोला इसलिए हमने उनसे बात नहीं की। हमने अभी तक एनसीपी के साथ बातचीत नहीं की है।' उन्होने कहा, 'हमने कभी भी चर्चा बंद नहीं की थी, जब मुझे पता चला कि बीजेपी समझौते से हट रही है, तब हमने बातचीत बंद की। हमने हमेशा अपना रुख साफ किया, अब वक्त है कि बीजेपी सच बोले।'

बता दें कि राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद ढाई साल के मुख्यमंत्री पद की शिवसेना की मांग को लेकर फडणवीस ने कहा, 'मेरे सामने इस पर कभी भी शिवसेना के साथ चर्चा नहीं हुई। मैंने अमित शाह जी से भी पूछा कि क्या ऐसा कोई फैसला हुआ है। उन्होंने बताया कि शिवसेना की तरफ से ऐसा प्रस्ताव दिया गया था, लेकिन इस पर कभी कोई फैसला नहीं लिया गया।'

कमेंट करें
qKgA5