• Dainik Bhaskar Hindi
  • Politics
  • Congress units in five states ready to make Rahul Gandhi the president, what will be the support from the dissidents' group G23?

राहुल ही होंगे अध्यक्ष!: पांच राज्यों में कांग्रेस इकाइयां राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने के लिए तैयार, असंतुष्टों के समूह जी 23 से भी क्या मिलेगा समर्थन?

September 20th, 2022

डिजिल डेस्क,दिल्ली।  कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव जल्द ही होना है लेकिन उससे पहले ही देश के पांच राज्यों की पार्टी ईकाई ने राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने के लिए प्रस्ताव पास कर लिया है। राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने की मांग फिर से की जाने लगी है। 

2019 में मिली कांग्रेस को करारी हार के बाद नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से त्यागपत्र दे दिया था। लेकिन पार्टी फिर से उनको पार्टी की कमान सौंपे जाने की मांग उठने लगी है। राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने के लिए पांच राज्यों की पार्टी इकाइयों ने प्रस्ताव पास किया है जिसमें छत्तीसगढ़, राजस्थान, गुजरात, तमिलनाडू और बिहार शामिल है। इन पांच राज्यों में से दो राज्यों में कांग्रेस की सरकार है। 

क्या होगा अध्यक्ष का चुनाव ?

कांग्रेस पार्टी में हमेशा से ही परिवारवाद के आरोप लगते रहे हैं। लेकिन हाल ही में पार्टी में जो हलचल देखी गयी उससे तो यही कयास लगाए जा रहे थे कि इस साल कांग्रेस पार्टी को नया अध्यक्ष मिल सकता है जो गांधी परिवार से नहीं होगा। बीच में कई नेताओं के नामों की भी चर्चा हुई लेकिन हाल ही में पांच राज्यों में पार्टी इकाइयों ने राहुल गांधी को अध्यक्ष की कमान दिए जाने  का समर्थन किया है। उसके बाद से तो यही माना जा रहा है कि कांग्रेस को अगला अध्यक्ष वोट के बजाय सर्वसम्मति से चुना जाएगा। बता दें राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा में व्यस्त हैं। यात्रा के दौरान राहुल गांधी कह चुके हैं कि पार्टी का अध्यक्ष कौन होगा इसका जवाब मिल जाएगा।  


जी-23 नेता क्या करेंगे समर्थन? 

राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने के लिए भले ही पांच राज्यों की पार्टी इकाइयों ने मांग की हो लेकिन फिर सवाल ये है कि क्या कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर सवाल खड़े कर चुके जी-23 ग्रुप के नेता राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष के तौर पर देखना पसंद करेंगे। बता दें जी-23 के असंतुष्ट कांग्रेस नेताओं के समूह के नेतृत्व में लोकतांत्रिक चुनाव से पार्टी अध्यक्ष पद के चयन की मांग उठी थी। 2020 में कांग्रेस की अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी को  जी-23 नेताओं द्वारा भेजे गए पत्र में एक पूर्णकालिक नेतृत्व के लिए आग्रह किया गया था। कांग्रेस अगर सर्वसम्मति से चुनाव कराने का प्रयास करती है तो पार्टी को पहले जी-23 नेताओं को इसके लिए राजी करना जरूरी होगा।