comScore

दिग्विजय सिंह की जुबान फिसली, कहा हिंदुओं की कट्टरता देश के लिए खतरनाक


हाईलाइट

  • भाषण के दौरान सिंह ने पाक पीएम इमरान खान को बोला ‘प्रधानमंत्री जी’
  • आतंकी ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी बोल चुके दिग्विजय सिंह
  • इंदौर के आनंद मोहन माथुर सभागृह में आयोजित कार्यक्रम में दिया विवादित बायान

डिजिटल डेस्क, इंदौर। आए दिन विवादित बयान देकर सुर्खियां बटोरने वाले ​मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर अपने ​बयान से मप्र की राजनीतिक गलियारों में हंगामा मचा दिया है। उन्होंने इंदौर के आनंद मोहन माथुर सभागृह में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिस तरह से मुस्लिमों की कट्टरता खतरनाक है, उसी तरह हिंदुओं की भी कट्टरता खतरनाक है। अगर बहुसंख्यक आबादी का सांप्रदायीकरण होता है तो देश के लिए बड़ी मुश्किल होगी।

उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्लामोफोबिया और कट्टरता का उदाहरण देते हुए कहा कि भारत में यदि बड़े पैमाने पर सांप्रदायीकरण बढ़ता है तो इससे देश को बचा पाना आसान नहीं होगा। यहीं नहीं अपने भाषण के दौरान उनकी जुबान फिसल गई और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को ‘प्रधानमंत्री जी’ बोल दिया। संयुक्त राष्ट्र संघ की आमसभा में दिए गए इमरान खान के भाषण का जिक्र करते हुए वे ऐसा बोल गए। गौरतलब है कि दिग्विजयसिंह अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं। इससे पहले भी दिग्विजयसिंह आतंकी ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी बोल चुके हैं।

दिग्विजय ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि जब नारा लगता था हर-हर मोदी, घर-घर मोदी, तब वाकई में नफरत की आग नरेंद्र मोदी और उस विचारधारा ने घर-घर तक पहुंचा दी है। आज मैं इस बात को मानता हूं कि सांप्रदायिकता का भूत जब तक बोतल में बंद है, तब तक बंद है, एक बार निकल गया तो इसको वापस बोतल में डालना आसान नहीं होगा। दिग्विजय सिंह ने अपने भाषण के अंत में लोगों से कहा कि आप गांधी की तरपफ रहेंगे या गोडसे की तरफ?  

कमेंट करें
TmbyQ