पंजाब: किसानों के राजनैतिक संगठन यूनाइटेड फ्रंट ने घोषित किया सीएम चेहरा, आप पार्टी से गठबंधन होने की उम्मीद

December 25th, 2021

हाईलाइट

  • 40 के करीब किसानों को चुनावी मैदान में उतरने की उम्मीद

डिजिटल डेस्क,चंडीगढ़। पंजाब में किसान आंदोलन के खत्म होने के बाद किसान नेता राजनीति और सत्ता जरिए किसानों कि किस्मत बदलने कि फिराक में है। चड़ीगढ़ में आज कई किसान संगठनों की प्रेसवार्ता होने की बात सामने आ रही है। जिसमें ये बात तय किया जाएंगा कि किसानों की ओर से सीएम का चेहरा कौन होगा। संभावना ये जताई जा रही है कि किसान संगठन और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन हो सकता है। और किसान नेताओं की ओर बलबीर सिंह राजेवाल को चुनावों में सीएम का उम्मीदवार घोषित किया जा सकता है।

किसान संगठन और आप पार्टी में गठबंधन की बातचीत चल रही है। आपको बता दें किसान आंदोलन का नेतृत्व करने वाले किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल एक निर्विरोध नेता रहे है। 32 किसान संगठनों में से 28 किसान संगठन चाहते है कि  यदि  आप पार्टी के साथ गठबंधन होता है तो यूनाइटेड फ्रंट के नेता के तौर पर बलबीर सिंह सबसे प्रमुख चेहरा माना जा रहे है। हालांकि अभी आम आदमी पार्टी और किसान संगठनों के बीच गठबंधन का लेकर जल्द बातचीत हो सकती है।  वहीं कुछ किसान नेताओं का मानना है,  आगामी साल में होने वाले चुनावों में किसान 40 के करीब सीटों पर उम्मीदावार उतार सकते है। मिली जानकारी के मुताबिक कुछ किसान संगठन राजनीतिक मोर्चे से दूरी बनाए हुई है।

कीर्ति किसान यूनियन के साथ अन्य किसान संगठनों का कहना है कि चुनावी मैदान में किसान नेताओं को संयुक्त किसान मोर्चा  बैनर का यूज करने से बचना चाहिए। और यूनाइटेड फ्रंट को चुनाव लड़ने के दौरान एसकेएम का इस्तेमाल न करने की सलाह दी है। इसी बीच कुछ किसान संगठनों ने सख्त लिहाज में चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि किसान संगठन किसी राजनीतिक पार्टी के साथ आधिकारिक गठबंधन करते है तो वे संयुक्त किसान मोर्चा से अलग हो जाएंगे और अपना समर्थन वापस ले लेंगे।
 

खबरें और भी हैं...