राहुल पर ओवैसी का निशाना : भारत केवल हिंदुओं का ही नहीं है, बल्कि हर भारतीय का है

December 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान के जयपुर में कांग्रेस की तरफ से रविवार को आयोजित महंगाई हटाओ रैली में राहुल गांधी महंगाई से से ज्यादा हिंदू और हिंदुत्व पर बोले। उन्होंने कहा कि बीच के फर्क बताते हुए राहुल ने मंच से अपील की कि हिंदुत्ववादियों को सत्ता से हटाकर हिंदुओं को वापस लाइए। राहुल गांधी के इस भाषण पर सवाल उठाते हुए एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने करारा हमला बोलते हुए कहा है कि भारत केवल हिंदुओं का नहीं बल्कि हर भारतीय का है। उन्होंने कांग्रेस के सेक्युलरिजम पर तंज कसते हुए कहा पूछा कि हिंदुओं को सत्ता में लाना कैसे सेक्युलर एजेंडा हो सकता है?

बहुसंख्यक की फसल काट रहे राहुल

आपको बता दें कि ओवैसी आगे कहते हैं कि राहुल और कांग्रेस ने हिंदुत्व की जमीन को उपजाऊ बनाया है। अब वे बहुसंख्यकवाद की फसल काटने की कोशिश कर रहे हैं। हिंदुओं को सत्ता में लाना 2021 का सेक्युलर एजेंडा है। उन्होंने कहा कि भारत सभी भारतीयों का है, केवल हिंदुओं का नहीं। भारत सभी धर्मों के लोगों का है और उनका भी जिनका कोई विश्वास नहीं है।

हिंदू और हिंदुत्व दोनों का मायने अलग

गौरतलब है कि राहुल गाधी ने अपने भाषण में कहा था कि दो जीवों की एक आत्मा नहीं हो सकती उसी तरह दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता क्योंकि हर शब्द का अलग मतलब होता है। देश की राजनीति में आज दो शब्दों की टक्कर है। दो अलग शब्दों की। इनके मतलब अलग हैं। एक शब्द हिंदू दूसरा शब्द हिंदुत्ववादी। यह एक चीज नहीं है। ये दो अलग शब्द हैं। और इनका मतलब बिलकुल अलग है।

मैं हिंदू हूं, मगर हिंदुत्ववादी नहीं हूं।'' उन्होंने कहा कि वह आज मौजूद लोगों को हिंदू व हिंदुत्ववादी शब्द के बीच फर्क बताना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ''महात्मा गांधी हिंदू, गोडसे हिंदुत्ववादी। फर्क क्या होता है? फर्क मैं आपको बताता हूं। चाहे कुछ भी हो जाए हिंदू सत्य को ढूंढता है। मर जाए, कट जाए, पिस जाए, हिंदू सच को ढूंढता है। उसका रास्ता सत्याग्रह है।