महाराष्ट्र राजनीतिक संकट : महाराष्ट्र में सियासी ड्रामे के बीच फडणवीस ने की फ्लोर टेस्ट की मांग, देर रात राजनीतिक हलचल हुई तेज

June 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में सियासी संग्राम खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। देर रात यहां की राजनीति में हल तब मच गई तब बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल से मुलाकात कर फ्लोर टेस्ट की मांग की। खबरों के मुताबिक इस बात पर बल देकर कहा गया है कि महाराष्ट्र सरकार के पास बहुमत नहीं है। बागी हो चुके विधायक भी शिवसेना का समर्थन नहीं कर रहे हैं।

महाराष्ट्र में सियासी दांवपेंच के बीच शिवसेना के खेमे की तरफ से बड़ी खबर आ रही है, पार्टी पर भारी संकट के बीच कैबिनेट बैठक में सीएम उद्धव ठाकरे ने साफ कर दिया है कि वे इस्तीफा नहीं देने वाले हैं। बैठक में मौजूद कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं ने भी उद्धव के इस फैसले का स्वागत किया है। इससे पहले एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने भी उद्धव ठाकरे को यही सलाह दी थी।

उधर, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का समर्थन करने वाले नेता विनायक राउत ने भी बड़ा दावा करते हुए कहा कि शिंदे गुट के 20 ऐसे विधायक हैं जो अभी भी उनके संपर्क में हैं। आने वाले समय में उनके नाम भी जारी कर दिए जाएंगे। 

उद्धव सरकार गिराने की तैयारी शुरू! , देवेंद्र फडणवीस पार्टी आलाकमान से मिलने दिल्ली पहुंचे

मुंबई में जारी भीषण सियासी उठापटक के बीच अब उद्धव सरकार को गिराने की तैयारी शुरू हो गई है। गुवाहाटी के होटल के बाहर नजर आ रही हलचलों को देखते हुए ऐसा ही माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक,  कुछ निर्दलीय विधायक और प्रहार पार्टी जो कि शिंदे गुट के साथ हैं, वे आज राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र लिख सकते हैं। जिसमें वह महाविकास अघाड़ी सरकार से समर्थन वापस लेने की घोषणा करेंगे। 

देवेंद्र फडणवीस हुए दिल्ली रवाना 

शिंदे गुट में हलचल के बीच बीजेपी भी सक्रीय हो गई है। देवेंद्र फडणवीस पार्टी आलाकमान से मिलने के लिए दिल्ली रावण हो चुके है। उधर, शिंदे गुट गुवाहाटी में आज दोपहर 1 बजे मीटिंग करेगा जिसके बाद एकनाथ शिंदे भी दिल्ली के लिए निकल सकते है। यानी दिल्ली में देवेंद्र फडणवीस और शिंदे के बीच बड़ी मीटिंग हो सकती है।

शिंदे गुट में शामिल हो सकते हैं दो और विधायक

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से जहां एक तरफ शिंदे गुट को राहत मिलने से बागी पक्ष और मजबूत स्थिति में पहुंच गया है वहीं दूसरी तरफ उद्धव ठाकरे की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। सुप्रीम कोर्ट ने डिप्टी स्पीकर के नोटिस पर रोक लगाकर 11 जुलाई तक सुनवाई को टाल दिया है और उसने महाराष्ट्र पुलिस, केंद्र सरकार, शिवसेना और डिप्टी स्पीकर को नोटिस जारी कर पांच दिन के अंदर जवाब देने को कहा है। 

लेकिन इस बीच इस राजनीतिक जंग से एक और बड़ी बात सामने निकलकर आ रही है, जहां आज उद्धव सरकार के दो और विधायक गुवाहाटी पहुंचकर शिंदे गुट को ज्वाइन कर सकते हैं। पहले से ही अल्पमत के साए में जी रही महा विकास अघाड़ी के लिए ये बहुत बड़ा झटका है और उधर इसके साथ शिंदे गुट 40 विधायकों के साथ अपना दावा और मजबूत कर लेगा। 

ED की पूछ-ताछ में शामिल नहीं होंगे संजय राउत 

महाराष्ट्र में डिप्टी स्पीकर के साथ-साथ संजय राउत की मुश्किलें भी बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। सोमवार को उन्हें ED ने पात्रा चॉल भूमि घोटाले में पूछताछ के लिए समन भेजा है। हालांकि, संजय राउत आज पूछताछ में शामिल नहीं होने वाले। वह आज अलीबाद में रैली को संबोधित करने वाले हैं।