बिहार सियासत: लालू, नीतीश के इशारे पर वोट काटने के लिए मुकेश सहनी ने उम्मीदवार उतारा : सुशील मोदी

November 24th, 2022

डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी विधानसभा क्षेत्र में हो रहे उप चुनाव को लेकर सभी पार्टियां जोड़तोड़ में जुटी हैं। इस बीच भाजपा के नेता सुशील कुमार मोदी ने आरोप लगाया है कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इशारे पर विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं। पर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने गुरुवार को कहा कि जदयू ने कुढ़नी उपचुनाव में अतिपिछड़ा समाज का टिकट काटकर अपमान किया, जबकि भाजपा ने इसी समाज के केदार गुप्ता को उम्मीदवार बना कर अतिपिछड़ों को सम्मान दिया।

मोदी ने कहा कि जदयू अनिल सहनी की सदस्यता रद्द होने पर इसी समाज के किसी अन्य व्यक्ति को टिकट दे सकता था, लेकिन उसने अपनी अतिपिछड़ा विरोधी मानसिकता जाहिर कर दी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 में जब नीतीश कुमार और लालू प्रसाद मिल कर भाजपा के खिलाफ चुनाव में उतरे थे, तब केदार गुप्ता ने महागठबंधन के मनोज सिंह को 12 हजार वोट से हराया था। 2020 के चुनाव में यहां भाजपा मात्र 700 वोट से चूक गई।

मोदी ने कहा कि भूमिहार समाज पूरी तरह भाजपा के साथ है और वह वोट बर्बाद नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में सबको साथ लेकर चलने वाली भाजपा का वोट काटने के लिए लालू-नीतीश के इशारे पर मुकेश सहनी की पार्टी ने अपना उम्मीदवार उतारा है। मोदी ने कहा कि जिस तरह से मोकामा और गोपालगंज उपचुनाव में अतिपिछड़ों ने एकजुट होकर भाजपा को वोट दिया, उसी तरह कुढ़नी में भी पार्टी को व्यापक समर्थन मिलेगा।

कुढ़नी विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए पांच दिसंबर को वोट डाले जाएंगें जबकि वोटों की गिनती आठ दिसंबर को होगी। राजद विधायक अनिल सहनी को धोखाधड़ी के एक मामले में दोषी ठहराये जाने और तीन साल की कैद की सजा सुनाये जाने के कारण कुढ़नी सीट पर उपचुनाव कराने की जरूरत पड़ी। कुढ़नी उपचुनाव में मुख्य मुकाबला जदयू और भाजपा के बीच माना जा रहा है।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.