पुलिस हिरासत में एक और मौत: अब आगरा जाने से पुलिस ने प्रियंका गांधी को रोका,कहा यूपी सरकार को किस बात का डर?

October 20th, 2021

हाईलाइट

  • प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेते दिखी पुलिसकर्मी
  • महिला पुलिसकर्मी ने की" लड़की हूं लड़ सकती हूं " की ताऱीफ

डिजिटल डेस्क, आगरा। आगरा में सफाई कर्मचारी अरूण वाल्मीकि की मौत का मामला बढ़ता जा रहा है। वाल्मीकि जयंती के मौके पर प्रियंका गांधी अरूण के घर जाकर परिवार से मिलने चाहती थी। लेकिन गांधी को आगरा टोल टैक्स पर ही रोक दिया गया है। पुलिस पर आरोप लग रहा है कि अरूण की मौत पुलिस कस्टडी में हिरासत के दौरान हुई है। मामले में मिली जानकारी के अनुसार पुलिस के आला अधिकारी ने इस मामले में पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। सस्पेंड पुलिसकर्मचारियों में एक इंस्पेक्टर रैंक का पुलिस अधिकारी भी बताया जा रहा है। पुलिस अफसरों का कहना है कि आगे की कार्रवाई जारी है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आनें के बाद ही मौत के कारणों का सही सही पता चल सकेगा।
क्या है मामला?

आगरा के जगदीशपुरा थाने में 17 अक्टूबर को 25 लाख रूपए चोरी हो गए थे। ये रूपए थाने के मालखाने में रखे थे। मंगलवार को पुलिस ने एक सफाईकर्मी को गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा था कि उसने 25 लाख रूपए चुराने की बात कबूली थी।

 

प्रियंका गांधी आज यूपी की राजधानी लखनऊ से आगरा के लिए रवाना हुई थी, लेकिन पुलिस ने उनके काफिले को बीच रास्ते में ही रोक लिया। वहीं आगरा टोल पर एक महिला पुलिसकर्मी प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेते हुए दिखी। पुलिसकर्मी कांग्रेस के नए नारे लड़की हूं लड़ सकती हूं की ताऱीफ भी कर रही थी। 
                               

प्रियंका ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि अरूण वाल्मीकि की मृत पुलिस कस्टडी में होती है। उनका परिवार न्याय की मांग कर रहा है। मैं परिवार से मिलने जा रही हूं तो मुझकों पुलिस रोक लेती है। आखिर उत्तरप्रदेश सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है। आज भगवान वाल्मीकि जयंती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महात्मा बुध्द की बड़ी बड़ी बातें कर रहे है लेकिन उनके संदेशों पर हमेशा हमला कर रहे है। पीएम मोदी पर प्रियंका ने ऐसा आरोप लगाते हुए कहा।