दैनिक भास्कर हिंदी: पश्चिम बंगाल चुनाव: नंदीग्राम में ममता ने मंच पर पढ़ा चंडी पाठ, कहा-मैं भी हिंदू हूं, शिवरात्रि पर जारी होगा पार्टी का मैनिफेस्टो

March 9th, 2021

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। पश्चिम बंगाल में नंदीग्राम चुनावी रण बनता जा रहा है। आज (9 मार्च, 2021) दोपहर करीब 3 बजे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम पहुंची और यहां जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने यहां भाजपा को चोतावनी देते हुए कहा कि मेरे साथ हिंदू कार्ड मत खेलो, मैं भी हिंदू हूं और घर से चंडी पाठ करके निकलती हूं। ममता ने कहा कि अगर नंदीग्राम की जनता मना करेगी तो मैं यहां से चुनाव नहीं लड़ूंगी। ममता ने कहा कि यहां बंटवारा करने की कोशिश की जाएगी, लेकिन आपको ऐसे लोगों की बात को अनसुना करना है।

रैली में भाषण के दौरान ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में मंच पर चंडी पाठ पढ़ा। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं अपना नाम भूल सकती हूं, लेकिन नंदीग्राम नहीं। इस दौरान उन्होंने शिवरात्रि पर पार्टी का मैनिफेस्टो जारी करने का एलान किया। बता दें कि नंदीग्राम में ममता बनर्जी का सीधा मुकाबला भाजपा के सुवेंदु अधिकारी से है, जिन्होंने मुख्यमंत्री को 50 हजार वोटों से हराने का दावा किया है। 

बीजेपी पुरानी CPM को लेकर वापस आई है: ममता
ममता बनर्जी ने कहा नंदीग्राम में जब आंदोलन हो रहा था तो मेरे घर काली पूजा चल रही थी। ममता ने कहा कि बीजेपी पुरानी CPM को लेकर वापस आई है। हमें एक अप्रैल को उन्हें अप्रैल फूल बनाना है। उन्होंने कहा कि मैं गांव की बेटी हूं, हर नाम भूल सकती हूं, लेकिन नंदीग्राम को नहीं। सिंगूर और नंदीग्राम को मैं ही साथ लेकर आई हूं। ये सीट खाली होने के कारण यहां से चुनाव लड़ रही हूं। मैं बहुत अत्याचार सहकर यहां तक पहुंची हूं।  

नंदीग्राम आंदोलन भी किया जिक्र
ममता बनर्जी ने अपने भाषण के दौरान नंदीग्राम में हुए किसानों के आंदोलन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान गोलियां चलाई गईं और लाठियां बरसाई गईं। मेरी गाड़ी पर भी गोलियां चलाई गई थीं। 

शिवरात्रि पर जारी होगा घोषणा पत्र
ममता बनर्जी ने नंदीग्राम के मंच से तृणमूल कांग्रेस के घोषणा पत्र को जारी करने की तारीख भी बताई। ममता बनर्जी ने कहा कि पार्टी का घोषणा पर शिवरात्रि के दिन यानी 11 मार्च को जारी होगा। हालांकि, उससे पहले दीदी नंदीग्राम में ही भोलेनाथ की पूजा भी करेंगी।

ममता 10 और शुभेंदु 12 को नामांकन दाखिल करेंगे
सूत्रों ने बताया कि ममता मंगलवार को पार्टी का घोषणापत्र जारी होने के बाद शाम को नंदीग्राम के लिए रवाना होंगी और अगले दिन नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। इसके बाद वे कार्यकर्ताओं की सभा को संबोधित करेंगी और 11 मार्च को कोलकाता लौट आएंगी। वहीं, भाजपा के प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी इसी सीट से 12 मार्च को पर्चा भर सकते हैं।

नंदीग्राम विधानसभा सीट का इतिहास
राज्य के पिछले विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम विधानसभा से तृणमूल कांग्रेस की ओर से सुवेंदु अधिकारी ही उम्मीदवार थे। तब अधिकारी ने सीपीआई के अब्दुल कबी को हराया था। सुवेंदु का दबदबा नंदीग्राम में कैसा है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें 66.79 फीसदी वोट मिले थे और दूसरे नंबर पर रहे अब्दुल कबी को 26.49 फीसदी वोट मिले थे। वहीं, भाजपा को यहां सिर्फ 5.32 फीसदी वोट मिले थे। ऐसे में भाजपा को यहां सुवेंदु से काफी उम्मीदें हैं।

नंदीग्राम से खुला था ममता के सत्ता में आने का रास्ता
बता दें कि नंदीग्राम वही जगह है, जहां से ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल की सत्ता में आने का रास्ता खुला था। साल 2007 में ममता बनर्जी का ‘मां, माटी और मानुष’ आंदोलन की शुरुआत भी यहीं से हुई थी। नंदीग्राम के संग्राम से ममता बनर्जी ने राज्य में 34 साल से चल रहे लेफ्ट शासन को हराया था और सत्ता पर अपना कब्जा किया था। हालांकि, अधिकारी के प्रभाव को देखते हुए भाजपा आश्वस्त है और उसने दावा किया है कि  ममता को कम से कम 50,000 वोट से हराया जाएगा।

बंगाल में 8 फेज में चुनाव
पश्चिम बंगाल की कुल 294 विधानसभा सीटों के लिए इस बार 8 फेज में वोटिंग होगी। 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए वोटिंग 27 मार्च (30 सीट), 1 अप्रैल (30 सीट), 6 अप्रैल (31 सीट), 10 अप्रैल (44 सीट), 17 अप्रैल (45 सीट), 22 अप्रैल (43 सीट), 26 अप्रैल (36 सीट), 29 अप्रैल (35 सीट) को होनी है। काउंटिंग 2 मई को की जाएगी।
 

खबरें और भी हैं...