comScore

भारतीय U-20 फुटबॉल टीम का करिश्मा, COTIF कप में अर्जेंटीना को हराया

August 07th, 2018 11:26 IST

हाईलाइट

  • भारतीय U-20 टीम ने अर्जेंटीनी U-20 टीम को 2-1 से हराया।
  • दीपक टांगरी और अनवर अली ने दागे गोल।
  • केवल दस खिलाड़ियों से खेल रही थी भारतीय फुटबॉल टीम।

डिजिटल डेस्क, वेलेंसिया। केवल दस खिलाड़ियों से खेल रही भारतीय फुटबॉल टीम ने सोमवार को एक अंडर-20 मुकाबले में शानदार प्रदर्शन करते हुए अर्जेंटीना की टीम को चौंका दिया। COTIF कप के इस मुकाबले में भारतीय U-20 टीम ने अर्जेंटीना की U-20 टीम को 2-1 से हरा दिया। भारतीय टीम की तरफ से दीपक टांगरी (4वें मिनट) और अनवर अली (68वें मिनट) ने गोल दागे। यह भारतीय टीम की COTIF कप में पहली जीत है। इससे पहले भारतीय टीम Murcia से 2-0 और Mauritania से 3-0 से हार चुकी है। वहीं वेनेजुएला के खिलाफ टीम ने ड्रॉ खेला था।   



भारतीय टीम ने पहले हॉफ से छह बार की अंडर-20 चैंपियन अर्जेंटीना पर दबाव बनाए रखा। भारतीय टीम ने चौथे मिनट में ही पहला गोल दाग दिया। चौथे मिनट में मिले पेनल्टी कॉर्नर पर हेडर से गोल कर दीपक ने भारत को 1-0 की बढ़त दिलाई। शुरुआती क्षणों में मिले गोल ने भारतीय टीम में जोश भरने का काम किया। इसके बाद भारतीय टीम ने अर्जेंटीना पर कई काउंटर अटैक किए। हाफटाइम से कुछ ही समय पहले भारतीय टीम के सुरेश सिंह वंगजाम और बोरिस सिंह अर्जेंटीनी डिफेंडर्स को छकाते हुए अनिकेत जाधव को बॉल पास की, लेकिन जाधव इस मौके को भुनाने में नाकाम रहे। इस तरह हाफटाइम तक भारतीय टीम 1-0 से आगे थी।

दूसरे हॉफ में भी भारतीय टीम अर्जेंटीना के गोलपोस्ट पर लगातार अटैक करती रही। भारतीय मिडफील्डर अली ने अमरजीत सिंह के पास पर एक शॉट लगाया जिसे गोलकीपर ने बचा लिया। मैच के 54वें मिनट में भारतीय टीम को उस वक्त झटका लगा जब फॉरवर्ड खिलाड़ी जाधव को रेड कार्ड दिखाकर डग आउट में वापस भेज दिया गया।  भारतीय टीम ने इसके बाद भी हार नहीं मानी। मैच के 68वें मिनट में अनवर अली ने फ्री-किक पर गोल कर भारतीय टीम को 2-0 की बढ़त दिला दी। हालांकि इसके चार मिनट बाद ही अर्जेंटीना ने पहला गोल कर बढ़त को 2-1 से कम कर दिया पर तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इस तरह भारतीय टीम ने यह मैच जीत लिया।

इस जीत से खुश भारतीय अंडर-20 टीम के कोच फ्लॉयड पिंटो ने कहा कि यह जीत भारतीय टीम के लिए गर्व की बात है। यह जीत टीम को वर्ल्ड फुटबॉल में एक पहचान दिलाएगी। यह जीत अब भारतीय टीम को रेग्यूलर बेसिस पर वर्ल्ड की बेस्ट साइड से खुद को परखने का मौका देगी। यह ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के युवाओं पर भरोसा का नतीजा ही है कि भारतीय टीम यहां तक पहुंच पाई। हम अब दुनिया की किसी भी टीम से भिड़ने में सक्षम हैं।   

कमेंट करें
yw4Ya