comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Asian Games: अरपिंदर और स्वपना ने एथलेटिक्स में दिलाया गोल्ड, दुती चंद को सिल्वर

August 30th, 2018 13:25 IST

हाईलाइट

  • एशियन गेम्स के 11वें दिन भारतीय खिलाड़ियों ने एथलेटिक्स में दो गोल्ड और एक सिल्वर जीता।
  • भारत 11 गोल्ड, 20 सिल्वर, 23 ब्रॉन्ज कुल 54 पदक के साथ अंक तालिका में 9वें स्थान पर है।

डिजिटल डेस्क, जकार्ता। एशियन गेम्स का 11वां दिन भारत के लिए डबल गोल्ड वाला रहा। भारत को एथलेटिक्स में दो गोल्ड आए। पहला गोल्ड अरपिंदर सिंह ने  मेन्स ट्रिपल जंप में दिलाया, वहीं दूसरा गोल्ड स्वपना बर्मन ने दिलाया। स्वपना ने वुमन्स हेप्टाथलॉन में सोना जीता। इन दो गोल्ड की बदौलत एशियन गेम्स में भारत के कुल 11 गोल्ड मेडल हो गए हैं।

भारतीय खिलाड़ियो ने 11वें दिन एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल भी अपने नाम किया। 200 मीटर वुमन्स रेस में दुती चंद ने दूसरे स्थान पर रहते हुए सिल्वर पर कब्जा जमाया। वहीं शरद कमल और मनिका बत्रा की जोड़ी ने टेबल टेनिस के मिक्सड डबल्स में भारत को ब्रॉन्ज दिलाया। भारतीय जोड़ी को मिक्सड डबल्स के सेमीफाइनल में चीन के यिंगशा सुन और चुकिन वांगिन से 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। इसके अलावा मुक्केबाजी में भी भारत ने दो पदक पक्के कर लिए हैं। मुक्केबाज अमित पंगाल और विकास कृष्णन ने अपने-अपने मुकाबले जीतकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। भारतीय महिला हॉकी टीम ने भी चीन को सेमीफाइनल मुकाबले में 1-0 से हराकर एक पदक पक्का कर लिया है।

फिलहाल भारत 11 गोल्ड, 20 सिल्वर, 23 ब्रॉन्ज यानि कुल 54 पदकों के साथ पदक तालिका में 9वें स्थान पर है। भारत अपने पिछले एशियन गेम्स के रिकॉर्ड से अब 3 मेडल दूर है। 2014 इंचियोन में भारत 11 गोल्ड, 10 सिल्वर, 36 ब्रॉन्ज कुल 57 पदक के साथ 8वें स्थान पर रहा था। 2010 में भारत ने एशियन गेम्स में सर्वाधिक 65 पदक हासिल किए थे, जिसमें 14 गोल्ड, 17 सिल्वर, 34 ब्रॉन्ज शामिल थे।

LIVE UPDATES DAY 11 -  Wed, 29 Aug 2018

हॉकी

08.00 PM : भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफाइनल मुकाबले में चीन को 1-0 से हराकर एक पदक पक्का किया।

एथलेटिक्स

07.00 PM : भारत को 11वां गोल्ड। हेप्टाथलॉन में स्वपना बरमन ने जीता गोल्ड।

हॉकी

06.40 PM : भारतीय महिला हॉकी टीम का सेमीफाइनल मुकाबला शुरू।

एथलेटिक्स

06.23 PM : मेन्स ट्रिपल जंप में अरपिंदर सिंह ने जीता गोल्ड। इसी के साथ भारत के एशियन गेम्स में 10 गोल्ड पूरे हुए।

एथलेटिक्स

06.13 PM : जिन्सन जॉनसन और मंजित सिंह ने मेन्स 1500 मीटर रेस के फाइनल के लिए क्वालिफाई किया।

मुक्केबाजी

05.32 PM : मुक्केबाज धीरज रांगी को क्वार्टरफाइनल में मंगोलियन बॉक्सर चिनजोरिग बाटरसुख ने 0-5 से हराया।

एथलेटिक्स

05.18 PM : दुती चंद ने 200 मीटर वुमन्स रेस में सिल्वर जीता।

टेबल टेनिस
04.57 PM : भारत को टेबल टेनिस में ब्रॉन्ज। शरद कमल और मनिका बत्रा की जोड़ी मिक्सड डबल्स के सेमीफाइनल में चीन के यिंगशा सुन और चुकिन वांगिन से 1-4 से हारी।

एथलेटिक्स
04.35 PM : मेन्स ट्रिपल जंप में राकेश बाबू और अरपिंदर देंगे भारत की ओर से चुनौती।

टेबल टेनिस
3:34 PM- मिक्‍स्‍ड डबल्‍स के क्‍वार्टर फाइनल मुकाबले में शरत कमल और मनिका बत्रा की भारतीय जोड़ी कोरिया की जी सोंग और यू सिम की जोड़ी को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची। इसी के साथ टेबल टेनिस में एक मेडल पक्का हो गया है।

टेबल टेनिस
3:28 PM-
मिक्‍स्‍ड डबल्‍स के क्‍वार्टर फाइनल मुकाबले में शरत कमल और मनिका बत्रा की भारतीय जोड़ी कोरिया की जी सोंग और यू सिम की जोड़ी से मैच में 4-11,12-10, 6-11 से पिछड़ रही है।

टेबल टेनिस
2:56 PM-
मिक्‍स्‍ड डबल्‍स के क्‍वार्टर फाइनल मुकाबले में शरत कमल और मनिका बत्रा की भारतीय जोड़ी कोरिया की जी सोंग और यू सिम की जोड़ी से 4-11 से पिछड़ रही है।

टेबल टेनिस
2:55 PM-
मिक्‍स्‍ड डबल्‍स का क्‍वार्टर फाइनल शुरू हो गया है। शरत कमल और मनिका बत्रा की भारतीय जोड़ी के सामने कोरिया की जी सोंग और यू सिम की जोड़ी है।

सेपकटकरा 
2:46 PM-
भारत की वीमंस टीम ग्रुप बी में मलेशिया के हाथों हारने के बाद अब वियतनम से भी 2-0 से हार गई है। 

कुराश
2:27 PM-
भारत की मेघा तोकास ने तुर्कमेनिस्तान की गुलशत नासीरोवा को महिला 63 किग्रा राउंड आफ 16 में 10-0 से हराकर अगले दौर में किया प्रवेश।

हैंडबॉल
2:13 PM-
भारत ने पुरुषों के मुख्य दौर ग्रुप 3 मैच में इंडोनेशिया को 37-23 से हराया। 

स्क्वॉश
11:00 AM-
महिला टीम पूल बी मैच भारत बनाम चीन कुछ ही देर में शुरू होने वाला है। 

महिला हॉकी सेमीफाइनल मुकाबले में भारत चीन से भिडे़गा 

कैनो-कयाकिंग
10:02 AM-
कयाक डबल (के2) 1000 मीटर पुरुष : भारत के नाओचा सिंह लैतोन्जम और चिंग चिंग सिंग अरामबम ने सेमीफाइनल में किया प्रवेश। 

एथलेटिक्स
9:34 AM-
महिला हेप्टाथलन : जैवलिन थ्रो राउंड खत्म हुआ भारत की स्वप्ना बर्मन इस इवेंट में टॉप पोजिशन पर हैं। वह 872 पॉइंट्स के साथ टॉप पोजिशन पर हैं और गोल्ड मेडल की प्रबल दावेदार बन गई हैं। दूसरी ओर, भारत की दूसरी ऐथलीट पूर्णिमा हैंब्रम 773 पॉइंट्स के साथ तीसरे पोजिशन पर हैं। इस इवेंट का आखिरी राउंड आज शाम को होगा। 

पेनचाक सिलाट 
9:31 AM-
फाइनल में महिला युगल टीम (सिमरन और सोनिया) 7वें स्थान पर रहीं। 

सेपकटकरा
9:17 AM-
भारतीय महिला क्वॉड्रैंड टीम को मलयेशिया से 0-2 से हार का सामना करना पड़ा।

भारत 11वें दिन इन खेलों में लेगा हिस्सा

एथलेटिक्स

पुरुष 20 किमी पैदल चाल :मनीष सिंह रावत,  इरफान कोलोथुम थोडी (4:30 AM)

महिला 20 किमी पैदल चाल : खुशबीर कौर, सौम्या बेबी (4:40 Am)

महिला हेप्टाथलन : पूर्णिमा हेमब्रम, स्वप्ना बर्मन (7:30 AM)

पुरुष त्रिकूद फाइनल : अरपिंदर सिंह, राकेश बाबू अरायन वीत्तिल (4:45 PM)

महिला 200 मीटर फाइनल : दुती चंद (5:35 PM)

पुरुष 1500 मीटर क्वालीफिकेशन : जिनसन जॉनसन, मंजीत सिंह (6:00 PM)

पुरुष 4x400 मीटर रिले क्वालीफिकेशन : भारत (6:45 PM)

मुक्केबाजी

पुरुष लाइट फ्लाई (49 किग्रा) क्वार्टर फाइनल : अमित बनाम किम जांग रियांग (उत्तर कोरिया) (12:15 PM)

पुरुष लाइट वेल्टर (64 किग्रा) क्वार्टर फाइनल: धीरज बनाम बातरसुख चिन्जोरिग (मंगोलिया) (5:15 PM)

पुरुष मिडिल (75 किग्रा) क्वार्टर फाइनल: विकास कृष्ण बनाम टीटी एरबिएक (चीन) (1:45 PM)

महिला फ्लाई (51 किग्रा) क्वार्टर फाइनल : सरजूबाला देवी बनाम चांग युआन (चीन) (2:15 PM)

ब्रिज: (8:30 AM)

कैनो-कयाकिंग 

कयाक फोर (के4) 500 मीटर पुरुष : भारत (7:20 AM)

कयाक डबल (के2) 1000 मीटर पुरुष : चिंग चिंग सिंग अरामबम/नाओचा सिंह लैतोन्जम (9:00 AM)

साइकिलिंग

महिला ओमनियम (स्क्रैच रेस) : मनोरमा देवी (7:30 AM)

पुरुष स्प्रिंट क्वालीफिकेशन : एसो, रंजीत सिंह (7:50 AM)

पुरुष 4000 मीटर व्यक्तिगत परसूट : मंजीत सिंह (8:35 AM)

हैंडबॉल

पुरुष मुख्य राउंड ग्रुप 3: भारत बनाम इंडोनेशिया (12:30 PM)

हॉकी 

महिला सेमीफाइनल: भारत बनाम चीन (6:30 PM)

जूडो : (7:30 AM)

कुराश : (12:30 PM)

महिला 63 किग्रा : बिनिशा बीजू नायकट्टू

पुरुष 81 किग्रा : मनीष टोकस, कुणाल

स्क्वॉश

महिला टीम पूल बी : भारत बनाम चीन (11:00 AM)

टेबल टेनिस 

मिक्स्ड डबल्स : एंथनी अमलराज/मधुरिका पाटकर, अचंत शरत कमल/मनिका बत्रा (8:30 AM)

वॉलीबॉल

महिला : भारत बनाम हांगकांग (3:00 AM)

कमेंट करें
Aaoyi
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।