दैनिक भास्कर हिंदी: हॉकी : भारतीय टीम को मिली करारी शिकस्त, बेल्जियम ने 2-0 से हराया

January 18th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के ब्लैक पार्क में खेले जा रहे चार देशों के टूर्नामेंट में भारतीय पुरुष हॉकी टीम को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। भारतीय हॉकी टीम को बेल्जियम ने 2-0 से हराया है। भारतीय टीम ने इस मैच से पहले अपने पहले मुकाबले में जापान को 0-6 से रौंदा था। इस हिसाब से बेल्जियम से मिली ये हार बड़ी शर्मनाक कही जा सकती है।

बता दें कि बेल्जियम की ओर से सबेस्टियन डोकियर (8वें मिनट) और विक्टर वेगनेज (34वें मिनट) ने गोल दागे। इस दौरान एक अजीब बात यह भी रही है कि मैच में भारतीय टीम को 4 पेनल्टी कॉर्नर मिले थे, इसमें से भारतीय टीम एक का भी फायदा नहीं उठा सकी। भारत का अब अगला तीसरा मुकाबला शनिवार को न्यूजीलैंड से होने वाला है।

जानकारी के अनुसार मैच में दोनों टीमों ने पहले क्वार्टर में रोमांचक खेल दिखाया, लेकिन बेल्जियम की टीम ने लगातार भारतीय डिफेंस की परीक्षा ली। वहीं बात करें दूसरे क्वार्टर की तो, इसमें बेल्जियम के मजबूत डिफेंस ने भारतीय अग्रिम पंक्ति को अधिक आक्रमण नहीं करने दिया।


बेल्जियम ने चौथे मिनट में ही अच्छा मूव बनाया, लेकिन चोट के कारण लंबे समय बाद टीम में वापसी कर रहे गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने इस हमले को नाकाम कर दिया। चार मिनट बाद डोकियर ने हालांकि रिवर्स हिट पर श्रीजेश को छकाते हुए बेल्जियम को 1-0 की बढ़त दिला दी। भारत को 12वें मिनट में मैच का पहला पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन यह बर्बाद गया, क्योंकि गेंद को डी के ऊपर नहीं रोका जा सका।

दूसरे क्वार्टर के सातवें मिनट में हालांकि युवा खिलाड़ियों अरमान, विवेक प्रसाद और मनदीप की तिकड़ी ने बेल्जियम के डिफेंडरों को गलती करने को मजबूर किया और भारत को दूसरा पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन हरमनप्रीत की ड्रैग फ्लिक को बेल्जियम के डिफेंडर ने रोक दिया। कुछ मिनटों बाद फारवर्ड रमनदीप सिंह ने शनदार मूव बनाते हुए बेल्जियम के सर्कल में जगह बनाई लेकिन उनका पास ऊंचा रहा जिस पर मनदीप ने स्टिक तो लगाई लेकिन गेंद क्रॉस बार के ऊपर से बाहर चली गई।

मध्यांतर तक बेल्जियम की टीम 1-0 से आगे थी। तीसरे क्वार्टर के पहले ही मिनट में भारत को तीसरा पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन इस बार वरुण कुमार की ड्रैग फ्लिक को बेल्जियम के डिफेंडर ने गोल से दूर कर दिया। कुछ ही मिनटों बाद भारत की डिफेंस की गलती का फायदा उठाते हुए विक्टर ने 34वें मिनट में एक और गोल दागकर बेल्जियम को 2-0 से आगे कर दिया। भारत ने संघर्ष जारी रखा, मगर मैच को नहीं बचा पाए।