कप्तान रोहित बने कोहली के सपोर्टर: खराब फॉर्म से गुजर रहे विराट कोहली को टीम से बाहर करने की मांग करने वाले पूर्व दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव को कप्तान रोहित ने दिया जवाब

July 11th, 2022

हाईलाइट

  • जब सौरव गांगुली, सहवाग, युवराज, जहीर, भज्जी को फॉर्म में न रहने पर ड्रॉप कर दिया जाता था तो कोहली को क्यों नहीं?

डिजिटल डेस्क, भोपाल। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली वर्तमान में अपने करियर के सबसे खराब दौर से गुजर रहे हैं। बीते ढाई वर्षों के दौरान उनके बल्ले से कोई शतक नहीं निकला है। यहां तक कि वह ज्यादा समय तक क्रीज पर टिक भी नहीं पा रहे हैं। ऐसे में उनको टीम में बार-बार मौके दिए जाने को लेकर अब सवाल उठने लगे हैं। सवाल उठाने वालों में भारत को पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव का नाम भी शामिल है। कपिल ने भी विराट के चयन को गलत बताते हुए उनको टीम से बाहर करने की मांग की थी। जिस पर रोहित शर्मा ने उनको जवाब दिया है। 

क्या कहा था कपिल देव ने? 

कपिल देव ने कोहली के लगातार असफल होने के बाद भी टीम मैनेजमेंट द्वारा उनहें बार-बार मौके देने के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा था कि, 'जब विश्व के शीर्ष दो गेंदबाजों में शामिल आर.अश्विन को टेस्ट टीम से बाहर किया जा सकता है तो विराट को क्यूं नहीं।' 

रोहित ने किया कोहली का सपोर्ट, कपिल को दिया जवाब

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कपिल के बयान पर असहमति जताते हुए कहा, 'वह बाहर से खेल को देख रहे हैं, वो नहीं जानते कि टीम के अंदर क्या चल रहा है।' 

रोहित ने इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए तीसरे टी-20 मैच के बाद आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब कपिल देव के कोहली पर दिए बयान के बारे में पूछा गया तो रोहित ने कहा,  “वह (कपिल देव) बाहर से खेल देख रहे हैं और नहीं जानते हैं कि अंदर क्या हो रहा है. हमारा अपना सोचने का तरीका है. हम अपनी टीम बनाते हैं और इसके पीछे काफी सोच-विचार किया जाता है. हम लड़कों का समर्थन करते हैं और उन्हें अवसर देते हैं. ऐसे में ये बातें आपको बाहर से पता नहीं चलतीं. इसलिए बाहर जो हो रहा है, वह महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन भीतर जो हो रहा है, वह हमारे लिए अधिक अहम है.”

 

एक दो सीरीज से खिलाड़ी की काबिलियत प्रभावित नहीं होती - रोहित

रोहित ने आगे कहा, “अगर बात फॉर्म की कि जाए तो हर खिलाड़ी अपने करियर में उतार-चढ़ाव के दौर से गुजरता है। हालांकि, इससे खिलाड़ी की काबिलियत प्रभावित नहीं होती। इसलिए हमें इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। जब कोई खिलाड़ी इतने सालों से अच्छा प्रदर्शन कर रहा हो तो एक या दो सीरीज में खराब प्रदर्शन उसे खराब खिलाड़ी नहीं बना देगा। हमें उनके पिछले प्रदर्शन को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। हम जो टीम में हैं, वो खिलाड़ी की अहमियत जानते हैं। उन्हें इसके बारे में बात करने का पूरा अधिकार है, लेकिन यह हमारे लिए बहुत ज्यादा मायने नहीं रखता है।”

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने भी उठाए सवाल

लगातार फेल होने के बावजूद भी विराट कोहली को टीम में शामिल किए जाने के फैसले पर कपिल देव के अलावा भारत के एक और पूर्व क्रिकेटर ने सवाल उठाया है। एक समय भारत के प्रमुख तेज गेंदबाज रहे वेंकटेश प्रसाद ने इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए तीसरे टी-20 मैच के बाद ट्विटर पर एक ट्वीट किया। 

अपने इस ट्वीट में उन्होंने विराट कोहली का नाम लिए बगैर लिखा, एक समय था जब आप आउट ऑफ फॉर्म होते थे तो आपको टीम से बाहर कर दिया जाता था, भले ही आप कोई भी हों। सौरव गांगुली, सहवाग, युवराज, जहीर, भज्जी सभी को फॉर्म में न रहने पर ड्रॉप किया गया है। इन सबने घरेलू क्रिकेट के में दमदार प्रदर्शन कर टीम इंडिया में फिर से वापसी की। 

बता दें कि विराट कोहली लंबे समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। आईपीएल में असफल रहने वाले विराट कोहली का फ्लॉप शो इंग्लैंड दौरे में भी जारी है। उन्होंने टेस्ट मैच की दो पारियों में 31 और दो टी-20 मैचों में महज 12 रन ही बनाए।    
 

खबरें और भी हैं...