comScore

ओलंपिक गोल्ड की उम्मीद करना देश के लिए आसान, लागू करना मुश्किल: मैरी कॉम

August 01st, 2019 15:35 IST
ओलंपिक गोल्ड की उम्मीद करना देश के लिए आसान, लागू करना मुश्किल: मैरी कॉम

हाईलाइट

  • मैरी कॉम छह बार की वर्ल्ड चैंपियन रह चुकी हैं
  • मैरी कॉम से आगामी ओलंपिक में देश को गोल्ड की उम्मीद

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। छह बार की वर्ल्ड चैंपियन मुक्केबाज मैरी कॉम ने कहा कि, लोगों के लिए आगामी ओलंपिक में उनसे गोल्ड मेडल की उम्मीद करना आसान है, लेकिन उनके लिए इसे लागू करना बहुत मुश्किल है। हालांकि, बॉक्सर मैरी कॉम ने कहा- देश की उम्मीद को पूरा करने की वह पूरी कोशिश करेंगी।

मैरी कॉम ने कहा- "देश आगामी ओलंपिक से गोल्ड स्वर्ण की उम्मीद कर रहा है। व्यक्तिगत रूप से मुझे यहां पर गर्व महसूस हो रहा है कि लोग मुझसे ओलंपिक में गोल्ड जीतने की उम्मीद कर रहे हैं। हां, उनके लिए यह कहना आसान है और देश आसानी से ऐसा कह सकता है। लेकिन मेरे लिए इसे लागू करना मुश्किल है। हमें कई चीजें सीखनी हैं और बहुत से काम करने हैं। देश जो मुझसे उम्मीद कर रहा है, मैं उसे पूरा करने की पूरी कोशिश करूंगी। 

लंदन ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट ने कहा कि, वह सीढ़ी दर सीढ़ी आगे बढ़ना चाहती हैं और चीजों में जल्दबाजी नहीं करना चाहती, क्योंकि ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि प्रतियोगिता। उन्होंने कहा- योग्यता बहुत महत्वपूर्ण विषयों में से एक है और एक बार जब मैं योग्य हो जाती हूं, धीरे-धीरे मैं बेहतर और बेहतर करूंगी। और निश्चित रूप से, मैं देखूंगी कि राष्ट्र मुझसे क्या उम्मीद कर रहा है। मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगी 

मैरी कॉम ने हाल ही में 23 वें राष्ट्रपति कप में 51 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड मेडल जीता था। जब उनसे वजन की श्रेणी बदलने के बारे में पूछा गया, तो मुक्केबाज ने कहा कि, श्रेणी बदलना उनके लिए कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा- वजन बदलना कोई बड़ा मुद्दा नहीं है और मेरे लिए मुश्किल नहीं है। भार वर्ग 48 किलोग्राम और 51 किलोग्राम में इतना अधिक अंतर नहीं है। अब मुझे 51 में बहुत अनुभव है और मैं अच्छे और अलग तरीके से तैयारी कर रही हूं।

कमेंट करें
u5mXR