comScore

FIFA WC : फेयरप्ले के आधार पर बाहर हुई सेनेगल, जापान-कोलंबिया अंतिम-16 में पहुंचे

June 29th, 2018 14:12 IST

हाईलाइट

  • कोलंबिया और जापान की टीम ग्रुप H से फीफा वर्ल्ड कप के राउंड ऑफ-16 में पहुंच गई है।
  • जापान, पोलैंड से हारकर भी राउंड ऑफ-16 में पहुंच गया।
  • राउंड ऑफ-16 में कोलंबिया और जापान का मुकाबला ग्रुप-H की टॉप-2 टीमों से होगा।

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। कोलंबिया और जापान की टीम ग्रुप H से फीफा वर्ल्ड कप के राउंड ऑफ-16 में पहुंच गई है। शुक्रवार को खेले गए ग्रुप H के मुकाबलों में जहां एक तरफ कोलंबिया ने सेनेगल को 1-0 से हराकर अपनी जगह नॉकआउट स्टेज के लिए पक्की की। वहीं जापान, पोलैंड से हारकर भी राउंड ऑफ-16 में पहुंच गया। जापान और सेनेगल के बराबर अंक थे और गोल डिफरेंस भी बराबर था, ऐसे में फेयरप्ले के आधार पर जापान ने पाइंट टेबल में अपना दूसरा स्थान पक्का कर लिया और सेनेगल को बाहर होना पड़ा।  राउंड ऑफ-16 में कोलंबिया और जापान का मुकाबला ग्रुप-H की टॉप-2 टीमों से होगा।

कोलंबिया बना ग्रुप विनर
कोलंबिया और सेनेगल के बीच मुकाबला टक्कर का रहा। पहले हॉफ में सेनेगल, कोलंबिया पर भारी नजर आई। शानदार अटैक और मजबूत डिफेंस के दम पर सेनेगल ने मैच के शुरुआती पलों में ही अपनी मंशा ज़ाहिर कर दी। पहले हॉफ में सेनेगल ने कुछ अच्छ मूव्स बनाए, हालांकि उसके स्ट्राइकर इन मौकों को भूना नहीं पाए। हॉफ टाइम तक स्कोर 0-0 था और ऐसा लग रहा था कि सेनेगल मैच निकाल ले जाएगी, लेकिन मैच के दूसरे हॉफ में कोलंबिया ने वापसी की। 74वें मिनट में मीना ने हेडर से शानदार गोल कर कोलंबिया को 1-0 से निर्णायक बढ़त दिला दी। कोलंबिया ने यह लीड मैच के अंत तक बरकरार रखी और ग्रुप विनर के रूप में राउंड ऑफ-16 में जगह बना ली।

फेयरप्ले के तहत बाहर होने वाली पहली टीम बनी सेनेगल

सेनेगल के इस हार के बाद भी चार अंक थे, जो जापान के बराबर थे। गोल डिफरेंस भी दोनों टीमों का बराबर था, लेकिन फेयरप्ले के मामले में सेनेगल (-6), जापान (-4) से पिछड़ गई। जापान को जहां 3 मैचों में 4 यलो कॉर्ड्स मिले वहीं सेनेगल को इतने ही मैचों में कुल 6 यलो कॉर्ड्स मिले। यह वर्ल्डकप में पहली बार है जब कोई टीम फेयरप्ले के आधार पर ग्रुप स्टेज से बाहर हुई हो। अगर जापान, पोलैंड से 2-0 से हार जाती तो सेनेगल गोल डिफरेंस के आधार पर नॉक ऑउट के लिए क्वालिफाई कर जाती, लेकिन जापान ने अंतिम पलों में डिफेंस कर पोलैंड को ऐसा नहीं करने दिया। इसी के साथ अब राउंड ऑफ-16 में एक भी अफ्रीकी टीम नहीं होगी। यह 1986 में राउंड ऑफ 16 राउंड शुरू होने के बाद पहली बार हुआ है, जब कोई अफ्रीकी टीम इस नॉक आउट स्टेज में नहीं पहुंची है।

राउंड ऑफ-16 में एकमात्र एशियाई टीम है जापान

ग्रुप G से पोलैंड पहले ही बाहर हो चुका था। पोलिश टीम सम्मान के साथ विदा होने के लिए इस मुकाबले को जीतन उतरी थी और इसमें उन्हें कामयाबी भी मिली। पोलैंड ने जापान को 1-0 से हरा दिया।  पोलैंड की तरफ से गोल बेदनारेक ने 59वें मिनट में किया। मैच खत्म होने के बाद जापानी दर्शक और खिलाड़ी सेनेगल और कोलंबिया के मैच के नतीजे का इंतजार कर रहे थे और जैसे ही यह नतीजा आया, सभी जापानी खिलाड़ी और दर्शक झूम उठे।

कमेंट करें
nT87J