comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

FIFA WC: 20 साल बाद फिर चैंपियन बना फ्रांस, क्रोएशिया को 4-2 से हराकर जीता खिताब

July 16th, 2018 13:45 IST

हाईलाइट

  • फ्रांस ने 20 साल बाद एक बार फिर वर्ल्डकप खिताब अपने नाम किया है।
  • फाइनल मुकाबले में फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से हराया।

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। क्रोएशिया को 4-2 से हराकर फ्रांस ने फीफा वर्ल्ड कप जीत लिया है। मॉस्को के लुज़्निकी स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में फ्रांस ने दमदार खेल का प्रदर्शन करते हुए दूसरी बार यह खिताब अपने नाम किया। इससे पहले 1998 में ब्राजील को हराकर फ्रांस वर्ल्ड चैंपियन बनी थी। उस समय फ्रांस के वर्तमान कोच डिडिएर डेसचेप्स टीम के कप्तान थे। इस जीत के साथ ही डेसचेप्स तीसरे ऐसे कोच बन गए हैं जिसने प्लेयर और मैनेजर रहते हुए अपनी टीम को वर्ल्ड कप जिताया है। जीत के बाद डेसचेप्स, टीम के सभी खिलाड़ी और स्टॉफ ने लुज़्निकी स्टेडियम में जमकर जश्न मनाया। फ्रांस की जीत का यह जश्न तब और दमदार हो गया, जब अवॉर्ड सेरेमनी के दौरान जमकर पानी गिरा। तेज बारिश के दौरान ही फ्रेंच प्लेयर्स ने ट्रॉफी उठाई और फिर जमकर नाचा गाना किया।



फ्रांस का इस पूरे वर्ल्ड कप में प्रदर्शन धमाकेदार रहा। ग्रुप स्टेज में डेनमार्क से ड्रॉ खेलने के अलावा टीम ने अपने सभी मुकाबले जीते। यही नहीं फ्रांस ने नॉक ऑउट स्टेज के सभी मुकाबले 90 मिनट के खेल के दौरान जीते। किसी भी मैच में फ्रांस को अतिरिक्त समय की जरुरत नहीं पड़ी। फाइनल मैच भी फ्रांस ने 90 मिनट के खेल में ही जीत लिया। इस मैच के हिरो एंटोनियो ग्रीजमान रहे, जिन्होंने पेनल्टी स्पॉट से गोल कर टीम को 2-1 की लीड दिलाई थी। पूरे मैच में ग्रीजमान के कदमों का जादू जबर्दस्त रहा। ग्रीजमान के अलावा पॉल पोग्बा और मबापे ने भी फ्रांस के लिए एक-एक गोल किए। वहीं एक गोल क्रोएशियन फॉरवर्ड मारियो मंजूकिच की गलती से हुआ। मंजूकिच ने ग्रीजमान की एक फ्री किक पर हेडर कर अपने ही गोल पोस्ट में बॉल पहुंचा दी थी।


 

पहले हाफ की शुरुआत में क्रोएशिया, फ्रांस पर थोड़ी भारी नजर आई, लेकिन 18वें मिनट में मंजूकिच के ऑउन गोल के बाद फ्रांस ने मैच में पकड़ बना ली। हालांकि 28वें मिनट में ही पेरिसिच ने गोल कर क्रोएशिया को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। इसके ठीक 10 मिनट बाद ग्रीजमान ने पेनल्टी शूट पर गोल कर फ्रांस को एक बार फिर 2-1 से लीड दिला दी। पहला हॉफ फ्रांस की इसी लीड पर खत्म हुआ। इसके बाद दूसरे हॉफ में भी क्रोएशिया ने तेज शुरुआत की और एक के बाद एक अटैक किए लेकिन एग्रेसिव खेल के चक्कर में क्रोएशिया का डिफेंस कमजोर हुआ और पोग्बा और मबापे ने 59वें और 65वें मिनट में एक-एक गोल कर फ्रांस को 4-1 की लीड दिला दी। 3 गोलों की इस लीड के बाद क्रोएशिया की वापसी लगभग नामुमकिन ही थी। हालांकि 69वें मिनट में क्रोएशिया को फिर मैच में वापसी का मौका मिला ,जब  फ्रेंच गोलकीपर लोरिस के एक गलती ने मंजूकिच को गोल करने का मौका दिया। मंजूकिच ने 69वें मिनट में गोल कर फ्रांस की लीड को 4-2 कर दिया। यहां से क्रोएशियन फॉरवर्ड ने कोशिशें तो बहुत की लेकिन वे फ्रांस के गोलपोस्ट तक बॉल पहुंचाने में नाकाम रहे और मुकाबला हार गए।



मिनट टू मिनट यूं चला मुकाबला :

दोनों टीमों के बीच बेहद रोमांचक मैच देखने को मिला। लेकिन फ्रांस की टीम ने अपने नर्व्स को काबू में रखते हुए कोई भी गलती नहीं की और फ्रांस ने यह वर्ल्डकप अपने नाम कर लिया। डेसचेंप्स तीसरे ऐसे कोच हैं जिसने प्लेयर और मैनेजर रहते हुए वर्ल्डकप जीता है।

फाइनल whistle!!!! फ्रांस ने वर्ल्डकप जीत लिया है। 20 साल बाद फ्रांस ने एक बार फिर से वर्ल्डकप का खिताब अपने नाम कर लिया है। 

90' : 5 मिनट का स्टोपेज टाइम जोड़ा गया। क्या क्रोएशिया 2 गोल कर पाएगी? लेकिन ऐसा होता नामुमकिन सा दिख रहा है।

90 मिनट का खेल खत्म होने में मात्र 1 मिनट बचा है। फ्रांस की सारी कोशिश इस समय डिफेंड करने में है। क्रोएशिया लगातार गोल करने की कोशिश कर रहा है। लेकिन फ्रांस के डिफेंस ने उन्हें एक भी मौका नहीं दिया।

81': फ्रांस की ओर से बड़ा बदलाव जीरूड को रिप्लेस कर फकीर को मैदान पर भेजा गया। वहीं क्रोएशिया ने भी एक बदलाव करते हुए जाका को मैदान पर भेजा।

71': क्रोएशिया ने रेबिच को रिप्लेस कर क्रेमेरिच को मैदान पर भेजा।

69': लोरिस की भारी गलती। मंजुकिच का गोल। क्रोएशिया ने लीड 4-2 से कम किया।

65': मम्बाप्पे का शानदार गोल फ्रांस 4-1 से आगे।

59': गोल!!!!! फ्रांस ने काउंटर अटैक करते हुए ग्रीजमान के शानदार पास पर पोग्बा ने एक लांग शॉट पर गोल दागा। फ्रांस ने 3-1 की बढ़त ली। क्रोएशिया को अब कोई चमत्कार ही बचा सकता है।

51': फ्रांस का अटैक। मम्बाप्पे ने हिट किया। सुबासिच का शानदार सेव।

49': क्रोएशिया को हाफ टाइम के बाद पहला कॉर्नर। गोल करने में नाकाम रहे।

पहला हाफ खत्म। पहले हाफ में फ्रांस की टीम क्रोएशिया पर हावी दिखी। क्रोएशिया की लास्ट मोमेंट पर की गई गलती का फायदा उठाते हुए फ्रांस ने दूसरा गोल दागकर बढ़त ले ली है। मैच के अगले 45 मिनट तय करेंगे कि यह वर्ल्डकप किसका होगा। क्रोएशिया को मैच में वापस आने के लिए करिश्माई प्रदर्शन करना होगा। कुल मिलाकर पहले हाफ का खेल शानदार रहा। खेल पर क्रोएशिया का दबदबा रहा लेकिन बढ़त फ्रांस के साथ रही। पहले हाफ में क्रोएशिया का बॉल पज़ेशन 61 प्रतिशत रहा। वहीं फ्रांस का बॉल पज़ेशन 39 प्रतिशत रहा। क्रोएशिया की टीम ने 7 शॉट अटेम्प्ट किए, वहीं फ्रांस की टीम ने बस एक ही शॉट अटेम्प्ट किया।

45' : 3 मिनट का स्टॉपेज टाइम मिला।

43':क्रोएशिया को लगातार दो कॉर्नर मिला पर उसे गोल में तबदील करने में नाकाम रहे।

40': फ्रांस के हर्नांडेज का फाउल और उन्हें यलो कार्ड दिखाया गया।

36': ग्रीजमान ने पेनल्टी लिया। गोल!!!!!!!!!!!!!! ग्रीजमान ने गोल दागा। फ्रांस 2-1 से आगे। 

34': VAR लिया गया। फ्रांस की ओर से हैंड की अपील। फ्रांस को पेनल्टी शूट मिला। गोल करने का मौका।

27': कांते का फाउल। क्रोएशिया को फ्री किक मिला। गोल!!!!!!!!!!! क्रोएशिया का गोल। पेरिसिच ने क्रोएशिया की तरफ से गोल कर स्कोर 1-1 किया।

22': क्रोएशिया को फ्री किक मिला।

17': ग्रीजमान का शॉट और गोल। फ्रांस ने पहला गोल दागा। फ्रांस फाइनल में 1-0 से आगे। मंजुकिच के हेडर से बॉल गोल में गई। क्रोएशिया का आत्मघाती गोल। 

15': फ्रांस को डी के एकदम बाहर फ्री किक।

10': पहले दस मिनट में क्रोएशिया की टीम फ्रांस पर हावी दिख रही है। क्रोएशिया लगातार बॉल पजेशन रखे हुए है। पेरिसिच लेफ्ट विंग से लगातार अटैक कर रहे हैं।

8': क्रोएशिया को कॉर्नर मिला। स्ट्रीनिच बॉल लेकर आगे बढ़े पर फ्रांस के डिफेंडरों ने उन्हें ब्लॉक किया।

4': क्रोएशिया का काउंटर अटैक। मंजुकिच चूके! 

3': फ्रांस को फ्री किक मिला

20:30 : पहले हाफ का खेल शुरु।

20:24 : ट्रॉफी मैदान में ले आई गई है। 

टीमें:

फ्रांस:लोरिस(कप्तान), पावर्ड, वराने, उमिती, लुकास, पोगबा, कांते, मम्बाप्पे, ग्रिज़मान, मतुदी, जीरूड

क्रोएशिया: सुबासिच, वर्सालको, लोरेन, विदा, स्ट्रिनिच, राकिटिच, ब्रोज़ोविच, रेबिच, मोड्रिच, पेरिसिच, मांज़ुकिच

कमेंट करें
bWsdG
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।