दैनिक भास्कर हिंदी: क्रिकेट इतिहास का सबसे बेवकूफी भरा शॉट, हंसने से नहीं रोक पाएंगे खुद को

November 22nd, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। क्रिकेट की दुनिया में कुछ अलग करने की कोशिश और रिकॉर्ड बनाने का जज्बा हर एक खिलाड़ी रखता है। क्रिकेट में कई खिलाड़ी ऐसे भी होते हैं, जो 'सुपर से ऊपर' करने की कोशिश भी करते हैं, मगर कभी कभी कुछ खिलाड़ी इस कोशिश में मजाक का पात्र भी बन जाते हैं। सोशल मीडिया पर भी एक ऐसा ही वायरल हो रहा है, जिसमें श्रीलंका का एक खिलाड़ी 'सुपर से ऊपर' करने की कोशिश में हंसी का पात्र बन गया। यह वीडियो जिसने भी देखा वो अपनी हंसी नहीं रोक पाया।

हां, हम बात कर रहे हैं श्रीलंका के पूर्व टेस्ट क्रिकेट चमारा सिल्वा की। बुधवार को उनका एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वे अजीबो गरीब शॉट लगाने के चक्कर में अपनी जग हंसाई कर बैठे। सोशल मीडिया पर यह वीडियो देखने के बाद दुनिया भर के क्रिकेटप्रेमी चमारा सिल्वा के इस बेवकूफाना शॉट या कोशिश का मजाक बना रहे हैं। उनका खूब मजाक उड़ाया जा रहा है।

वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि बॉलर के बॉल फेंकने से पहले ही वे स्टंप्स के पीछे चले जाते हैं। यहां से वे एक हवाई शॉट लगाने का अजीबोगरीब कारनामा करना चाह रहे थे। मगर बॉलर ने पहले ही उनके मंसूबे भांप लिए थे और गेंद की दिशा मोड़ते हुए स्टंप्स पर अटैक कर दिया। बेचारे सिल्वा हवाई शॉट लगाने के चक्कर में अपना विकेट नहीं बचा सके और बॉल सीधे स्टंप्स पर जा लगी। ऑउट होने के बाद सिल्वा चुपचाप पवेलियन की ओर चलते बने।

दरअसल यह घटना काफी समय पहले श्रीलंका के दो बड़े क्लबों एमएएस युनिकेला और टीजे लंका के बीच कोलंबो में खेले गए मैच के दौरान की है। इस मैच में चमारा सिल्वा ने एक नया ही शॉट इजाद करने की कोशिश की, लेकिन इस कोशिश में वह औंधे मुंह जा गिरे। उनका यह वीडियो बुधवार 22 नवंबर को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

सिल्वा की कोशिश का मकसद यह था कि ऐसा करने से लेंद को लेग साइड में पुल शॉट खेलने के लिए उन्हें सामान्य से बहुत ज्यादा समय और जगह मिल जाएगी और वह आसानी से गेंद को बाउंड्री के पार भेज सकेंगे। मगर इस कोशिश में वे ज्यादा समय गेंदबाज को दे बैठे। इस शॉट में जोखिम भी बहुत ज्यादा था और गेंदबाज ने सिल्वा के जोखिम को भुनाते हुए उन्हें बोल्ड कर दिया।

बता दें कि चमारा सिल्वा श्रीलंका के लिए 75 वनडे और 16 टी-20 मुकाबले खेल चुके हैं। उनके खाते में दो वनडे शतक भी हैं। चमारा सिल्वा पर सितम्बर के महीने में घरेलू प्रथम-श्रेणी मैच के दौरान खराब बर्ताव और खेल भावना के लिए दो साल का प्रतिबंध लग चुका है। यह प्रथण श्रेणी मैच साल के शुरुआती महीने में खेला गया था।