दैनिक भास्कर हिंदी: अगर ऐसा होता तो शायद फिर से नंबर-1 खिलाड़ी नहीं बन पाते राफेल नडाल ?

August 22nd, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। स्पेन के स्टार टेनिस प्लेयर राफेल नडाल एक बार फिर से ATP रैंकिंग में नंबर-1 पर पहुंच गए हैं। उन्होंने 3 साल बाद इस उपलब्धि को हासिल किया है। पहली बार नडाल ने अगस्त 2008 में नंबर-1 का ताज अपने नाम किया था। लेकिन हाल ही में चोट की वजह से कई बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले पाने के कारण नडाल को अपनी रैंकिंग गंवानी पड़ती है। लेकिन नडाल के लिए ये रैंकिंग पाना इतना आसान नहीं था, क्योंकि इस रैंकिंग को पाने में नडाल की मेहनत के साथ-साथ उनकी किस्मत ने भी उनका साथ दिया है। 

एंडी मरे होते तो शायद नहीं मिलती नंबर-1 की रैंकिंग

राफेल नडाल ने तीन साल बाद ब्रिटेन के नंबर-1 खिलाड़ी एंडी मरे को पछाड़कर इस रैंकिंग को हासिल किया है, लेकिन अगर एंडी मरे सिनसिनाटी ओपन में खेलते तो फिर शायद नडाल के लिए नंबर-1 बन पाना मुश्किल हो जाता। एंडी मरे कुछ समय से चोट की वजह से कई टूर्नामेंट में नहीं खेल पाए हैं। हाल ही में हुए सिनसिनाटी ओपन में भी मरे नहीं खेले हैं। लेकिन नडाल इस टूर्नामेंट में खेले हैं, इस वजह से उनकी रैंकिंग में इजाफा हो गया है। राफेल नडाल भी कुछ समय पहले तक चोट की वजह से खेल नहीं पा रहे थे और इस कारण भी उनके लिए नंबर-1 की रैंकिंग पाना काफी मुश्किल माना जा रहा था। 

नंबर-1 बनने के बाद क्या कहा नडाल ने? 

नंबर-1 की रैंकिंग हासिल करने के बाद नडाल ने कहा कु उन्हें खुद भी यकीन नहीं था कि वो फिर से कभी इस रैंकिंग में पहुंच पाएंगे। नडाल ने कहा कि 'पिछले कुछ साल मेरे लिए जिस तरह से रहे, उसके बावजूद फिर से नंबर-1 पर पहुचना अविश्वसनीय है।' गौरतलब है कि पिछले हफ्ते ही सिनसिनाटी ओपन में नडाल ऑस्ट्रेलिया के निक किर्गियो से हार गए थे।