comScore

दौड़ में जिन्सन जॉनसन का डबल धमाका, 800m में सिल्वर के बाद 1500m रेस में जीता सोना

August 31st, 2018 11:33 IST

हाईलाइट

  • भारत के जिनसन जॉनसन ने 1500मी रेस में गोल्ड जीता है।
  • भारत 12 साल बाद इस इवेंट में कोई मेडल जीत सका है।
  • मंजीत 1500मी में चौथे स्थान पर रहे।

डिजिटल डेस्क, जकार्ता। भारत के जिन्सन जॉनसन ने 1500मीटर रेस में गोल्ड जीता है। इसी के साथ भारत 12 साल बाद इस इवेंट में कोई मेडल जीत सका है। इससे पहले सीनीमोल पॉउलोज ने 2006 में ब्रॉन्ज जीता था। जॉनसन का यह 2018 एशियन गेम्स में दूसरा मेडल है। इससे पहले 800मीटर रेस में उन्होंने सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। वहीं 800मी रेस में गोल्ड जीतने वाले मंजीत 1500मी में चौथे स्थान पर रहे। मंजीत 0.69 सेकेंड के अंतर से ब्रॉन्ज जीतने से चूक गए।

जॉनसन ने गोल्ड के लिए 3 मिनट और 44.72 सेकेंड का समय लिया। वह इस रेस में 1200मी तक तीसरे नम्बर पर चल रहे थे। अंतिम 300मी में जॉनसन ने अपनी स्पीड बढ़ाते हुए एक-एक करके सभी को पीछे छोड़ दिया। वह अंतिम 100मी में दूसरे रेसर से काफी लीड ले चुके थे। ईरान के अमीर मोरादी 3 मिनट 45.62 सेकेंड के साथ दूसरे स्थान पर रहे। वहीं बहरीन के मोहम्मद तिओली ने 3 मिनट 45:88 सेकेंड के साथ ब्रॉन्ज अपने नाम किया। वहीं भारत के मंजीत 3 मिनट 46:57 सेकेंड के साथ चौथे स्थान पर रहे।

जॉनसन का जन्म 15 मार्च 1991 को केरल के कोझिकोड जिले के चक्किट्टापारा शहर में हुआ था। उन्होंने अपने हाई स्कूल के बाद कोट्टायम के केरल स्पोर्ट्स काउंसिल में एडमिशन ले लिया। इसके बाद 2009 में वह भारतीय सेना में शामिल हो गए। जॉनसन जुलाई 2015 तक हैदराबाद में जूनियर कमीशन ऑफिसर के रूप में कार्यरत रहे। इसके बाद उन्होंने 800मी और 1500मी के रेस में भाग लेना शुरू कर दिया।

जॉनसन का नाम सबसे पहले 2015 में चर्चा में आया था। जॉनसन ने वुहान में आयोजित 2015 एशियन एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के 800मी में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। इसी साल उन्होंने थाईलैंड में आयोजित एशियन ग्रैंड प्रीक्स में तीन गोल्ड मेडल जीते थे। जॉन्सन ने 2016 में बैंगलोर में आयोजित क्वालिफिकेशन राउंड में 1:45.98 का अपना बेस्ट टाइम निकालते हुए समर ओलंपिक 800मी रेस के लिए क्वालीफाई किया था। इसके बाद जून 2018 में जॉनसन ने 58वें नेशनल इंटर स्टेट सीनीयर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 800मी रेस में 1 मिनट 45:65 सेकेंड का समय लेते हुए नया नेशनल रिकॉर्ड बनाया। इससे पहले यह रिकॉर्ड श्रीराम सिंह के नाम था। उन्होंने मॉन्ट्रिअल ओलंपिक में 1:45:77 सेकेंड का रिकॉर्ड बनाया था। 

इसी के साथ यह 2018 एशियन गेम्स में एथलेटिक्स में भारत अब तक सात गोल्ड, दस सिल्वर और दो ब्रॉन्ज समेत कुल 19 मेडल्स जीत चुका है। वहीं सभी खेलों को मिलाकर भारत के नाम 13 गोल्ड, 21 सिल्वर और 25 ब्रॉन्ज हैं। भारत  59 मेडल्स के साथ आठवें स्थान पर है। अगर 1500मी के पुरुष और महिला दोनों को मिला दिया जाए तो, 2002 के बाद, यह पहला गोल्ड मेडल है। 2002 में बुसान एशियन गेम्स में सुनीता रानी ने 1500मी रेस में गोल्ड जीता था।

कमेंट करें
ASNR8