दैनिक भास्कर हिंदी: लॉकडाउन में अपने परिवार से मिलने के लिए तरस रही थी : रानी

June 23rd, 2020

हाईलाइट

  • लॉकडाउन में अपने परिवार से मिलने के लिए तरस रही थी : रानी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के बेंगलुरू केंद्र में करीब तीन महीने से समय बिता रही भारत की पुरुष और महिला हॉकी टीम के खिलाड़ियों को पिछले सप्ताह ही उन्हें अपने अपने घर जाने की इजाजत दे दी गई थी। भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तानी रानी रामपाल अपने घर लौटने से बहुत खुश हैं।

रानी ने कहा, मुझे पता है कि बहुत से लोग यात्रा करने या बाहर खाने के लिए तरस गए थे, लेकिन लॉकडाउन के दौरान मैं जिस चीज के लिए तरस रही थी- वह मेरे परिवार से मिलने को था। मैं बहुत खुश हूं कि मैं आखिरकार यहां हूं और उनके साथ कुछ दिन बिता सकती हूं।

उन्होंने कहा, निश्चित रूप से, इसके लिए मैं हॉकी इंडिया और साई का बहुत आभारी हूं, जिन्होंने हमारी बहुत देखभाल की। अब मेरा ध्यान घर पर भी अपनी फिटनेस बनाए रखने पर होगा और साथ ही यह भी सुनिश्चित करना होगा कि मैं अपने घर वालों के साथ अपना समय बिताऊं।

पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत ने कहा, मेरी मां, भाई और मेरे दो कुत्तों सैम और रियो के लिए घर लौटना एक बहुत अच्छा एहसास था। भले ही मैं वीडियो कॉल पर लगातार संपर्क में था, लेकिन मैं वास्तव में घर वापस आने के लिए उत्सुक था। अब मैं कह सकता हूं कि घर वापस आना बहुत अच्छा लगा।

पुरुष टीम के ही फॉर्ड मनदीप सिंह ने कहा, जब मैंने घर में कदम रखा तो ऐसा लगा कि अभी ही दुनिया में आया हूं। मैं काफी समय बाद घर लौटा हूं, इसलिए अपने परिवार से मिलना और उनके साथ समय बिताना अच्छा होगा।

महिला टीम कैम्प के लिए फरवरी से ही बेंगलुरू पहुंच गई थी जबकि पुरुष टीम मार्च के पहले सप्ताह में यहां पहुंची थी। एचआई ने फैसला किया है कि टीम को 19 जुलाई को दोबारा बुलाया जाएगा और तब दोबारा ट्रेनिंग शुरू की जाएगी।