दैनिक भास्कर हिंदी: सुनील छेत्री मेरी पहली पसंद नहीं थे : सुखविंदर सिंह

June 10th, 2020

हाईलाइट

  • सुनील छेत्री मेरी पहली पसंद नहीं थे : सुखविंदर सिंह

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय फुटबाल टीम के पूर्व कोच सुखविंदर सिंह ने कहा कि सुनील छेत्री उनकी पहली पसंद नहीं थे और टीम के मौजूदा कप्तान को लेकर उनके मन में शंका थी। सुखविंदर ने एआईएफएफ डॉट कॉम से बात करते हुए कहा, बाइचुंग भूटिया मैच के लिए उपलब्ध नहीं थे यह मेरे लिए बुरे सपने के जैसा था। उस समय हम पाकिस्तान में थे और मैं जानता था कि दबाव काफी ज्यादा होगा। मुझे ऐसा कोई खिलाड़ी चाहिए था जो चतुर हो, उसमें डर न हो और तेज भी हो।

छेत्री ने 2005 में ही पाकिस्तान के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल में पदार्पण किया था। 12 जून को छेत्री अंतर्राष्ट्रीय स्तर में अपने 15 साल पूरे कर लेंगे। सुखविंदर ने कहा, ईमानदारी से कहूं तो छेत्री मेरे दिमाग में थे ही नहीं। वह मेरे पहले विकल्प नहीं थे। मैंने आस-पास देखा और मुझे हैरानी हुई की खाली जगह को कौन भरेगा। तब मैंने उनके बारे में सोचा लेकिन मुझे उनको लेकर शंका थी।

पूर्व कोच ने कहा, मैं सोच रहा था कि उनकी लंबाई कम है और वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शारीरिक तौर पर मजबूत डिफेंडरों के सामने कैसे खेलेंगे। लेकिन मैं उन्हें जानता था क्योंकि जेसीटी में वो मेरी कोचिंग में खेले थे। वहां उन्होंने बताया था कि वह क्या कर सकते हैं। इसलिए मैंने अपनी कोचिंग की आवाज को सुना और उन्हें मौका दिया। उन्होंने मुझे निराश नहीं किया।