दैनिक भास्कर हिंदी: वानखेड़े में 21 साल बाद किसी भारतीय ने लगाई सेंचुरी, बना डाले ये रिकॉर्ड

September 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए पहले वनडे में टीम इंडिया को 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा है। इसी के साथ 3 वनडे की इस सीरीज में कीवियों की टीम 1-0 से आगे हो गई है। इससे पहले टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसला लिया और कीवियों के सामने 281 रनों का टारगेट रखा। जिसे न्यूजीलैंड ने 49 ओवर में ही हासिल कर लिया। पहले वनडे में टीम इंडिया की तरफ से कैप्टन कोहली को छोड़ दिया जाए, तो कोई भी खिलाड़ी 40 रन भी नहीं बना पाया। इस मैच मैं कैप्टन कोहली ने 125 बॉलों का सामना करके 121 रन बनाए और अपने वनडे करियर की 31वीं सेंचुरी लगाई। इसी के साथ कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोन्टिंग को भी पीछे छोड़ दिया। इसके साथ ही और भी कई रिकॉर्ड बने, जिनके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

1. वानखेड़े में 21 साल का सूखा हुआ खत्म

मुंबई का वानखेड़े स्टेडियम टीम इंडिया के लिए लकी रहा है और वर्ल्ड कप-2011 टीम इंडिया ने इसी स्टेडियम में जीता था लेकिन इंडियन बैट्समैन के लिए ये ग्राउंड उतना अच्छा नहीं रहा। इस ग्राउंड पर 21 साल से कोई भी इंडियन बैट्समैन सेंचुरी नहीं लगा पाया है, लेकिन विराट कोहली ने रविवार को अपने 200वें वनडे में सेंचुरी जड़कर इस 21 साल के सूखे को भी खत्म कर दिया। इस स्टेडियम में आखिरी बार 1996 में सचिन तेंदुलकर ने सेंचुरी लगाई थी और तब से लेकर आज तक किसी भी इंडियन प्लेयर्स के बैट से सेंचुरी नहीं निकली है। अब जाकर टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में सेंचुरी लगाकर इस 21 साल के सूखे को खत्म कर दिया। इसके अलावा वानखेड़े में सेंचुरी लगाने वाले कोहली तीसरे इंडियन और दूसरे कैप्टन हैं। इससे पहले इस स्टेडियम में सचिन तेंदुलकर और मोहम्मद अजहरूद्दीन सेंचुरी लगा चुके हैं। 

2. पोन्टिंग को छोड़ा पीछे

पहले वनडे मैच में विराट कोहली ने जैसे ही सेंचुरी लगाई, वो वनडे में सबसे ज्यादा सेंचुरी लगाने के मामले में दूसरे नंबर पर आ गए हैं। इसी के साथ कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोन्टिंग को पीछे छोड़ दिया है। पोन्टिंग के नाम 375 वनडे में 30 सेंचुरी है, जबकि इस मामले में सबसे ऊपर सचिन तेंदुलकर हैं, जिन्होंने 463 वनडे में 49 सेंचुरी लगाई है। इसमें खास बात ये है कि 31वीं सेंचुरी लगाने के लिए विराट ने 192 इनिंग खेली, जबकि सचिन तेंदुलकर ने 271 इनिंग में अपनी 31वीं सेंचुरी लगाई थी। 

3. 200वें मैच में सबसे ज्यादा रन 

टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना 200वां वनडे मैच खेला। इस मैच में उन्होंने सेंचुरी भी लगाई और इसी के साथ अपने 200वें मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कोहली पहले बल्लेबाज बन गए हैं। इससे पहले ये रिकॉर्ड साउथ अफ्रीका के विस्फोटक बल्लेबाज एबी डिविलियर्स के नाम था। डिविलियर्स ने अपने 200वें मैच में 101 रनों की नॉटआउट इनिंग खेली थी और वो पहले नंबर पर थे, लेकिन कोहली ने अपने 200वें मैच में 121 रनों की इनिंग खेली और अब वो पहले नंबर पर आ गए हैं। टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली 200वें मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में अब पहले नंबर पर हैं। 

4. ये रिकॉर्ड भी बनाए हैं कोहली ने

विराट कोहली ने इस मैच में सेंचुरी लगाकर इन सबके अलावा और भी कई रिकॉर्ड बनाए हैं। कोहली ने अब तक 31 सेंचुरी लगाई है, जिसमें 12 सेंचुरी उन्होंने पहले बैटिंग करते हुए बनाई है, जबकि 19 सेंचुरी उन्होंने चेज करते हुए बनाई है। इसलिए उन्हें चेज मास्टर भी कहा जाता है। इसके साथ ही बैटिंग करते हुए 12 सेंचुरी में कोहली सिर्फ 1 बार ही नॉटआउट रहे हैं, जबकि चेजिंग के दौरान बनाई गई 19 सेंचुरी में कोहली 12 बार नॉटआउट रहे हैं। इसके अलावा वनडे में कोहली की अकेले ही 31 सेंचुरी है, जबकि केन विलियमसन, जो रूट और स्टीव स्मिथ को मिलाकर 27 सेंचुरी हैं। 

5. कोहली के सेंचुरी के बावजूद पहली बार हारी टीम इंडिया

ये पहली बार है, जब विराट कोहली ने अपने होम ग्राउंड पर सेंचुरी लगाई और टीम इंडिया हार गई। कोहली ने अपनी 31 में से 13 सेंचुरी होम ग्राउंड यानी भारत में ही लगाई है। जिसमें से 12 बार टीम इंडिया जीती है, लेकिन रविवार को पहली बार ऐसा हुआ कि कोहली ने सेंचुरी लगाई और टीम इंडिया हार गई। कोहली ने होम ग्राउंड पर अपनी पहली सेंचुरी श्रीलंका के खिलाफ 24 दिसंबर 2009 को ईडन गार्डन में लगाई थी। इस मैच में कोहली ने 107 रन बनाए थे और टीम इंडिया को जीत मिली थी।