आंध्रप्रदेश : युवती से सामूहिक दुष्कर्म कर किया गर्भवती, चार गिरफ्तार

May 12th, 2022

डिजिटल डेस्क, अमरावती। आंध्र प्रदेश के कडप्पा जिले में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक नाबालिग दलित युवती के साथ एक युवक और उसके दोस्तों ने सामूहिक दुष्कर्म किया, जिससे युवती गर्भवती हो गई। नाबालिग अपनी मां की मौत के बाद प्रोद्दातुर शहर में एक मंदिर के पास भीख मांगकर गुजारा कर रही थी।

एक युवक अपने दोस्तों के साथ मिलकर पिछले कुछ महीनों से युवती का यौन शोषण कर रहा था। घटना का पता तब चला जब वह गर्भवती हो गई। स्थानीय लोगों द्वारा पुलिस को सूचना दिए जाने के बाद एक महिला कांस्टेबल ने उसका बयान दर्ज किया। आरोप है कि स्थानीय पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कर अपराध को छिपाने की कोशिश की। पुलिस ने पीड़िता को आश्रम भेज दिया है।

हालांकि, कडप्पा जिले के पुलिस अधीक्षक अंबुराजन ने गुरुवार को इस बात से इनकार किया कि मामला दर्ज करने में देरी हुई है। उन्होंने कहा कि बुधवार को मामला दर्ज कर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस जांच में सामने आया है कि करीब छह महीने पहले दो युवकों ने युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। चार महीने पहले दो और युवकों ने उसका यौन शोषण किया।

एसपी ने बताया कि बच्ची को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है। मामले की जांच के लिए एडिशनल एसपी पुजिता को प्रोदत्तूर भेजा गया है। इस बीच, विपक्षी तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के राष्ट्रीय महासचिव नारा लोकेश ने मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी के पैतृक कडप्पा जिले में दलित लड़की से सामूहिक बलात्कार के लिए वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) सरकार की खिंचाई की।

उन्होंने कहा कि, महिला पुलिस विंग ने सामूहिक बलात्कार को प्रकाश में लाया और पीड़ित लड़की के साथ न्याय करने की कोशिश की लेकिन सब व्यर्थ गया। लोकेश ने सरकार से यह बताने की मांग की है कि पुलिस अधिकारियों ने तुरंत मामला दर्ज क्यों नहीं किया।

आरोपियों को पकड़ने के बजाय सामूहिक दुष्कर्म को छिपाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि उन्होंने नियमों का उल्लंघन करते हुए चुपचाप लड़की को एक निजी घर में स्थानांतरित कर दिया। लोकेश ने दावा किया कि जगन रेड्डी की छवि को ऊपर उठाने के लिए मीडिया में विज्ञापनों पर करोड़ों रूपए खर्च किए गए।

 

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.