नई दिल्ली : पीएफआई ने एजेंसियों को गुमराह करने के लिए बनाए कई नकली संगठन: सूत्र

September 24th, 2022

हाईलाइट

  • कट्टरपंथी संगठन द्वारा कई नकली संगठन बनाए गए थे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा की गई बड़ी कार्रवाई के बाद की गई जांच से पता चला है कि एजेंसियों को गुमराह करने और गिरफ्तारी से बचने के लिए कट्टरपंथी संगठन द्वारा कई नकली संगठन बनाए गए थे। सूत्रों ने दावा किया कि, पीएफआई के सदस्यों को पता था कि सरकार उनकी संदिग्ध गतिविधियों के कारण उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी और इसलिए उन्होंने खुफिया एजेंसियों को गुमराह करने के लिए कई नकली संगठन बनाए।

सूत्रों ने कहा, द कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया, रिहैब इंडिया फाउंडेशन, नेशनल वीमेन फ्रंट, ऑल इंडिया लीगल काउंसिल, एसडीपीआई- ये सभी पीएफआई द्वारा बनाए गए नकली संगठन हैं। सूत्रों ने यह भी दावा किया कि पीएफआई सदस्य कथित रूप से भाजपा और आरएसएस नेताओं पर हमले करने की साजिश रच रहे थे। ईडी और एनआईए दोनों ने दावा किया है कि पीएफआई विदेशों से फंड इकट्ठा कर रहा था, जिसका इस्तेमाल आतंकी प्रशिक्षण देने और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए किया जाना था।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी