दैनिक भास्कर हिंदी: 110 साल पुराने पेड़ पर बनाई अनोखी लिटिल फ्री लाइब्रेरी

January 16th, 2019

डिजिटल डेस्क। दुनिया में अजूबों की कमी नहीं है। इंसान के पास अगर दिमाग को सही तरीके से यूज करने का हुनर हो तो वो कुछ भी कर सकता है। आप मोबाइल पर Online बुक्स पढ़ते है, जिससे आपकी आखों पर असर होता है, लेकिन यहां हम आपको कुछ ऐसा बता रहे है जिसे सुन Book Lover खुश हो जाएगें, अगर आप है बुक्स पढ़ने के शौकीन तो ये खबर आपके लिए ही है। जहां एक शख्स ने लगभग 100 साल पुराने पेड़ पर ही लाइब्रेरी बना डाली।


अमेरिका के इडाहो राज्य में एक आर्टिस्ट ने घर के बहार सूखे पेड़ मे छोटी  लाइब्रेरी बनाई है। इस लाइब्रेरी में बच्चों के लिए 70 से ज्यादा किताबें रखी गईं हैं। लिहाजा, लिटिल फ्री लाइब्रेरी संस्था ने एक क्रिएटिव लाइब्रेरी को पेश किया है। करीब 100 साल पुराने पेड़ पर संस्था ने जो लाइब्रेरी बनाई है, उसे देखकर आपका भी मन लाइब्रेरी में जाकर किताब पढ़ने का होने लगेगा। आर्टिस शारले एमिटज हॉवर्ड ने बताया कि लाइब्ररी को बनाने में 73 डॉलर (करीब 5,133 रु.) खर्च हुए हैं।  

लिटिल फ्री लाइब्रेरी एक गैर- लाभकारी संगठन है, जो दुनिया भर में पुत्कालयों के निर्माण और उनके कायाकल्प का काम करता है। शारले एमिटेज हॉवर्ड ने लिटिल ट्री लाइब्रेरी को अपने घर के पीछे लगे लगभग 100 साल पुराने पेड़ पर रचनात्मक तरीके से बनाया है। एक लाइब्रेरियन के रूप में वह एक आरामदायक, सुंदर पढ़ने के माहौल के महत्व को समझती हैं। शारले एमिटेज ने फेसबुक पर पोस्ट करते हुए लिखा कि हमें एक विशाल पेड़ को हटाना था, जो 110 साल पुराना था और सड़ रहा था। इसलिए मैंने इस पेड़ को एक लाइब्ररी में बदलने का फैसला किया और पेड़ को काट- छाट कर एक छोट सी लाइब्रेरी में बदल दिया। जो लोगों को काफी पंसद भी आ रही है।

शारले ने पेड़ को काटकर अलमारी का रुप दिया है। उसके अंदर लाइटें और बाहर एक बल्व लगाया है। ये फ्री लाइब्रेरी परयोजना लोगों को दुनिया भर में लिटिल लाइब्रेरी बनाने के लिए प्रोत्साहित करती है। इस लाइब्रेरी को कोई भी व्यक्ति किताबें दान कर सकता है। दुनिया भर में 75 हजार फ्री लाइब्रेरी रजिस्टर्ड हैं, उनमें से ये सबसे अलग है। अगर आप भी चाहते हैं कुछ इस तरह का क्रिएशन तो आईडिया लें इस छोटी सी बनी लाइब्रेरी से। आप इसे अपनी पंसद के हिसाब से डेकोर कर सकते हैं।   

,