दैनिक भास्कर हिंदी: कार चालक ने 1 साल में 127 बार तोड़ा ट्रैफिक नियम, देखते ही गिरफ्तारी के आदेश

August 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद । कहते हैं नियम तोड़ने के लिए ही बने होते हैं...लेकिन नियम कितनी बार तोड़े जा सकते हैं एक बार, दो बार, चार बार...शायद इससे ज्यादा रूल्स तोड़ने में किसी को शर्म आ जाए। खास तब, जब नियम तोड़ने पर सजा या जुर्माना लग चुका हो। उसके बाद तो कई भी नियम तोड़नी भूल जाएगा, लेकिन कहते है कि इस दुनिया में नमूनों की कोई कमी नहीं है। ऐसा ही एक शख्स तेलंगाना में है जिसने ट्रैफिक नियमों को एक बार या दो बार नहीं, बल्कि पूरे 127 बार तोड़े, वो भी हर बार जुर्माना लगने के बावजूद वो नियम तोड़ता रहा। 

कार चालक के इस अनूठे केस में पुलिस भी हैरान है कि कोई व्यक्ति इतने समय तक ट्रैफिक नियम तोड़ते रहने के बाद भी लगातार कैसे बचता रहा। सड़कों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में आरोपी की होंडा जैज कार राज्य हाईवे और अन्य कई सड़कों पर बार-बार तय रफ्तार से तेज गुजरती दिखाई दे रही है। हर बार व्यक्ति का ई-चालान उसके घर पहुंचा, लेकिन एक बार भी चालान भरा नहीं। 

अब तक 1.8 लाख रुपए का लगा जुर्माना

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस कार चालक ने पिछले 1 साल में 127 बार ट्रैफिक नियम तोड़े और हर बार उस पर 1435 रुपए का जुर्माना लगाया गया। इस हिसाब से उस पर अब तक 1.83 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा चुका है। तेलंगाना स्टेट ई-चालान पोर्टल के मुताबिक- '4 अप्रैल 2017 से 10 मार्च 2018 के बीच तेलंगाना के आउटर रिंग रोड (ओआरआर), नारसिंगी, हर्षागुडा और हिमायत सागर क्षेत्रों में ये कार तय से ज्यादा रफ्तार में गुजरती दिखी। 

उस दौरान कार कुल 127 बार ओवरस्पीडिंग करती हुई पाई गई। ओआरआर पर स्पीड लिमिट पहले 120 किमी प्रतिघंटा थी, लेकिन अब इस रफ्तार में भी कई हादसे होने लगे। जिसके बाद कुछ समय पहले स्पीड लिमिट घटाकर 100 किमी कर दी गई।

ट्रैफिक पुलिस ने जारी किया अलर्ट, गाड़ी दिखते ही होगी गिरफ्तारी

सायबराबाद ट्रैफिक पुलिस ने नियमों का सख्ती से पालन कराने के लिए 6 मोबाइल पेट्रोल टीम बनाई है और 5 स्पीड गन्स भी लगा रखी हैं। इसके बाद भी इस तरह के मामले आते हैं, तो सख्ती से निपटा जाएगा। पुलिस विभाग ने साफ कर दिया है कि अब ये गाड़ी जहां दिखेगी, वहीं चालक को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इंस्पेक्टर डीवी रंगा रेड्डी ने बताया कि, alt147 ने जितनी बार भी ट्रैफिक नियम तोड़ा, हर बार हमने गाड़ी मालिक को ई-चालान भेजा और रजिस्टर्ड फोन नंबर पर मैसेज भी किया। पर उसकी तरफ से एक बार भी रिप्लाई नहीं आया। अब हमने सभी टोलगेट्स और सभी मुख्य चौराहों पर अलर्ट जारी कर दिया है। हम सुनिश्चित करेंगे कि आरोपी चालक अपने सारे चालान की राशि चुकाए।'

रोड सेफ्टी विशेषज्ञ विनोद कुमार कहते हैं कि, 'किसी एक व्यक्ति के 1 साल में 127 चालान कटना बहुत बड़ी बात है। इस तरह की हरकत मुख्य तौर पर वो लोग करते हैं जो वाहन मालिक नहीं बल्कि चालक हैं। बस, ऑटो रिक्शा और कैब पर भी इस तरह की नकेल कसने की जरूरत है। ये उन कंपनियों के लिए भी खतरे की घंटी है, जो बिना सोचे-समझे किसी भी कम प्रशिक्षित व्यक्ति को ड्राइवर रख लेती हैं।'