दैनिक भास्कर हिंदी: डरावना है यह आइलैंड, रोंगटे खड़े कर देंगी पेड़ों पर झूलती हजारों डॉल्स

July 13th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दुनियाभर में कई सारी ऐसे स्थान हैं, जो काफी डरावने हैं और वहां जाने से डरते हैं। डरावनी जगहों पर भूतप्रेतों का कब्जा माना जाता है, लेकिन क्या आप किसी ऐसी जगह के बारे में सुना है जहां डॉल्स का कब्जा हो और लोग उनसे डरते हैं। शायद नहीं, लेकिन ऐसा एक स्थान है जिसे डॉल्स आइलैंड के नाम से जाना जाता है। यहां इंसानों का नहीं बल्कि डॉल्स का कब्जा है। दशकों तक इस जगह लोग जाने से भी कतराते थे और इसे दुनिया की खतरनाक जगहो में एक माना जाता था। 

अजब- गजब की आज की खबरें में हम जिक्र कर रहे हैं, मैक्सिको के पास Xochimilco canals में स्थित एक आइलैंड का, जिसका नाम La Isla de la Munecas है। यह आइलैंड डॉल्स की वजह से चर्चा में बना रहता है। क्या है इसके पूरी कहानी, आइए जानते हैं...

क्या 21वीं सदी तक मालदीव सहित ये 5 द्वीप हो जाएंगे विलुप्त ?

सिटी से दूर टापू पर डॉल्स का कब्जा
मैक्सिको स्थित La Isla de la Munecas टापू पर हजारों डॉल्स पेड़ों से झूलती नजर आती हैं। देखने में यह इतनी डरावनी हैं, कि लोग इसके आसपास से गुजरने में भी कतराते हैं। यह टापू मैक्सिको सिटी से 17 मिल साउथ में स्थित है। इस टापू पर पेड़ से लटकती और झूलती इन डॉल्स को लेकर एक कहानी लोगों में प्रचलित है। 

बताया जाता है कि, इस टापू पर सैन्टाना बर्रेरा रहते थे, वह परिवार का मोह छोड़ कर वहां एकाकी जीवन बिताने आए थे। उनके सामने एक बार टापू पर परिवार के साथ घूमने आई एक बच्ची डूब जाती है और उसकी मौत हो जाती है। 

लोगों का मानना था कि उस लड़की की आत्मा ने सैन्टाना बर्रेरा को परेशान करना शुरू कर दिया था, सैन्टाना बर्रेरा को किसी ने बोला की अगर वो वहां डॉल्स को पेड़ों से लटका देंगे तो वह आत्मा उन्हें परेशान नहीं करेगी इसलिए उन्होनें वहां 1500 डॉल्स को पेड़ों से लटका दिया।  

मादा चील से तीन विभाग परेशान -दो माह से थाने का नेटवर्क ठप

साल 2001 में सैन्टाना बर्रेरा की मृत्यु हो गई, बताया जाता है उनकी लाश वहीं मिली जहां वह बच्ची डूबी मिली थी, उन्होंने आखिरी बार यही बोला था कि यहां से डॉल्स को हटाया गया तो कुछ अनहोनी जरूर होगी।

UNESCO द्वारा साल 1987 में इसे विश्व विरासत स्थल घोषित किया गया है। अब यहां पर टूरिस्ट भी आने में दिलचस्पी लेते हैं।