दैनिक भास्कर हिंदी: SSR Death: सुशांत सिंह की डायरी के कुछ पन्ने आए सामने, साल 2020 में इतना कुछ करना चाहते थे एक्टर

August 12th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की डायरी के कुछ पन्ने सामने आए हैं, जिसमें उन्होंने 2020 के अपने प्लान के बारे में लिखा है। कई जगहों पर फ्लो चार्ट बनाकर बाकायदा उन्‍होंने अपनी जरूरत यानी N (Need), P यानी पब्लिक प्रेजेंस को समझने की कोशिश की है। डायरी के पन्नों को देख ऐसा लगता है कि सुशांत सिंह राजपूत फिल्म इंडस्ट्री में राइटर्स का एक पूल बनाना चाहते थे ताकि अच्छे राइटर्स के जरिए अच्छी स्क्रिप्ट्स सामने आएं। इसके साथ ही इसमें ये भी प्लान है कि कैसे फिल्मों को आगे ले जाया जाए। सुशांत की डायरी के इन पन्नों के सामने आने के बाद मुंबई पुलिस की सुसाइड थ्योरी पर शक और भी ज्यादा गहरा गया है। 

डायरी के इन पन्नों से पता चलता है कि सुशांत अपनी एक्टिंग और लेंगवेज स्किल्स में बहुत बड़ा बदलाव लाना चाहते थे। उनका हॉलीवुड में भी जाने का प्लान था और वह हॉलीवुड की टॉप एजेंसी के साथ जुड़ना चाहते थे। फिल्‍मों के स्क्रिप्‍ट के बारे में लिखा कि किस तरह की स्क्रिप्‍ट को तरजीह दी जानी चाहिए। दर्शकों में सीन का प्रभाव जमाने के लिए क्‍या उपाय करने चाहिए और वह खुद उसके लिए किस तरह तैयारी करेंगे? इन बातों का भी उन्‍होंने जिक्र किया है। 

सुशांत सिंह की एक प्रोडक्शन हाउस खोलने, एक आईटी स्टार्टअप स्थापित करने और एक गेमिंग कोड बनाने की योजना थी। सुशांत ने अपनी डायरी में उन कंपनियों और प्रोजेक्ट के प्लान के बारे में जानकारी दी, जिन पर वह काम कर रहे थे। इसमें आईपी प्रोटेक्शन, सॉफ्टवेयर बनाना और अपने कॉलेज के दोस्त के साथ एक आईटी कंपनी की स्थापना करना शामिल था। उनकी प्रोडक्शन हाउस स्थापित करने की भी बड़ी योजना थी, जो शिक्षा और पर्यावरण के साथ लिंक थी।

आय के अवसर पैदा करना’, + कानूनी पहलू + धन प्रबंधन’, योजना + रणनीति’, विजन एसेट क्रिएशन’, आउटसोर्स पार्ट ऑफ टीम’, 'विजन’ जैसे शब्द उनके डायरी में लिखे हैं। जिससे उनके आइडिया और एक्जीक्यूीशन की प्लानिंग के बारे में पता चलता है। जहां तक ​​सिनेमा की बात है, उन्होंने 'शिक्षा/पर्यावरण सिनेमा,' 'अपग्रेड फॉर सिनेमा' जैसे शब्दों का उल्लेख किया है। 

खबरें और भी हैं...