घटना के विरोध में अमानगंज में तोडफ़ोड़ पत्थरबाजी व आगजनी, 5 पुलिसकर्मी घायल: पन्ना में 11 वर्षीय बालक पर 3 साल की मासूम के अपहरण का आरोप

October 26th, 2021

डिजिटल डेस्क पन्ना । अमानगंज कस्बे में शांति व्यवस्था उस समय बिगड़ गई जब पुराना बस स्टैण्ड के इमाम चौक स्थित मनहारी दुकान वाली गली में निवासरत 3 वर्षीय बालिका का अपहरण कर उसके साथ अनैतिक कार्य करने की खबर फैल गई। इसके विरोध में अमानगंज कस्बे में प्रदर्शनकारियों द्वारा बवाल मचाते हुए दुकानों में तोडफ़ोड़ और आगजनी की गई। साथ ही उपद्रवियों को नियंत्रित करने के लिए मौके पर मौजूद पुलिस बल पर भी पथराव किया गया, जिसमें पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए। अमानगंज कस्बे में घटना के बाद धारा 144 लगा दी गई है। पुलिस ने  35 से 40 अज्ञात उपद्रवियों के विरुद्ध आगजनी, बलवा, गाली-गलौज, तोडफ़ोड़ के मामले में प्रकरण पंजीबद्ध किया है। अमानगंज कस्बा के मनहारी दुकान वाली गली में एक समाज के लोग निवासरत हैं, यहीं पर दूसरे समुदाय के लोग भी निवासरत हैं। 24 अक्टूबर की दोपहर ढाई बजे 3 वर्षीय बालिका घर से गायब हो गई थी, जिसकी परिजन खोजबीन कर रहे थे। तभी जानकारी मिली कि आधा किलोमीटर दूर स्थित मिढ़ासन नदी के चकदही घाट में एक बच्ची पानी में डूब रही थी, जिसे सतना जिले के एक युवक द्वारा नदी से बाहर निकालकर पुलिस थाने ले जाया गया है। जिसके बाद परिजन थाने पहुंच गये। यहीं पर बच्ची को मोहल्ले के एक दूसरे समुदाय के 11 वर्षीय बालक द्वारा जबरदस्ती अपहरण कर ले जाने की जानकारी सामने आई। इस बारे में पुलिस द्वारा 11 वर्षीय नाबालिग से पूछताछ की गई। बच्ची के बयान के बाद अपहरण किए जाने के आरोप में बालक के विरुद्ध आईपीसी की धारा 363 के तहत मामला दर्ज किया गया है। बालक के नाबालिग होने के चलते किशोर न्याय अधिनियम के तहत पुलिस द्वारा जांच कर विवेचना कार्यवाही शुरू की गई। वहीं प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिये पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करना शुरू किया तो जवाब में प्रदर्शनकारियों द्वारा पुलिस पर भी पत्थर बरसाये गये। कस्बे में चल रहे पूरे घटनाक्रम की जानकारी लगने पर पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीणा सहित पुलिस तथा राजस्व के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गये और करीब 5 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद कस्बे में चल रहा उपद्रव रात्रि में लगभग 12 बजे शांत हुआ। कस्बे के बिगड़े हालात को देखते हुए भारी संख्या में अलग-अलग थानों से पुलिस बल तैनात किया गया। पुलिस द्वारा उपद्रवियों के विरूद्ध मामला कायम कर लिया है।
अफवाह फैलते ही बवाल मचना शुरू हो गया
इस पूरे घटनाक्रम में जिस बालक को थाने में बुलाया गया था, उसे पुलिस द्वारा छोड़ दिया गया। वहीं से इस घटनाक्रम को लेकर अफवाह फैलने लगी कि बालक द्वारा अपहरण करने के बाद 3 वर्षीय बालिका के साथ अनैतिक कृत्य किया गया है और इसके बाद धीरे-धीरे इसी बात को लेकर अमानगंज कस्बे में शाम 7 बजे से बवाल मचना शुरू हो गया। एक समुदाय के लोगों की भीड़ इक_ी हो गई और नाराजगी जताते हुए प्रदर्शनकारी थाने पहुंच गये, जहां पर प्रशासन तथा पुलिस के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की गई। नाराज प्रदर्शनकारी हंगामा करते हुए गांधी चौक पहुंच गए, जहां पर एक समुदाय के लोगों की दुकानों में तोडफ़ोड़ की गई। साथ ही वहां पर लगी फल सब्जी आदि के हाथठेलों में आग लगा दी गई। याचिका में नर्मदा नदी के किनारे हो रहे अवैध निर्माण और अतिक्रमणों को भी हटाने की माँग की गई थी। 

इनका कहना है
स्थिति पूर्णत: नियंत्रण में है। उपद्रवियों के विरुद्ध पुलिस ने मामला कायम कर लिया है। घटना में बालक के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया गया है और उसके विरुद्ध किशोर न्याय अधिनियम के तहत प्रक्रिया के अनुसार कार्यवाही की जा रही है।
--पियूष मिश्रा, एसडीओपी गुनौर

खबरें और भी हैं...