comScore

अवैध गोदाम से 18 लाख का डीजल-पेट्रोल पकड़ाया, सस्ते दामों बेचते थे माफिया

अवैध गोदाम से 18 लाख का डीजल-पेट्रोल पकड़ाया, सस्ते दामों बेचते थे माफिया


डिजिटल डेस्क जबलपुर। शहपुरा थाना क्षेत्र में पुलिस ने एक अवैध गोदाम में छापा मारकर करीब 21 हजार लीटर डीजल-पेट्रोल पकड़ा है। उक्त डीजल-पेट्रोल चोरी  का होने व उसमें मिलावट कर सस्ते दाम में बेचे जाने की जानकारी उजागर हुई है। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने दो टैंकर व एथेनॉल ऑयल, खाली जैरिकेन, खाली बाल्टी आदि बरामद कर धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।    इस संबंध में टीआई आरके गौतम ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि थाना क्षेत्र में अस्सू उर्फ आशीष अग्रवाल के गोदाम में अवैध रूप से पेट्रोल व डीजल का संग्रहण एवं मिलावट कर बेचा जाता है।
      सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने गोदाम में छापा मारा तो वहाँ पर दो टैंकर  एमपी 20 जीए 6766 एवं एमपी 17 जी 0116 खड़े हुए थे। जाँच करने पर टैंकरों में  क्रमश: 12000 लीटर और 9000 लीटर डीजल-पेट्रोल भरा हुआ था को जब्त किया गया। वहीं गोदाम में 13 जैरिकेन जिसमें डीजल-पेट्रोल, एथेनॉल ऑयल भरा था को जब्त किया गया। इसके अलावा 39 खाली जैरिकेन और 7 खाली बाल्टियाँ तथा डीजल नापने के वाट तथा 8 पाइप सटक भी जब्त किए गए हैं। पुलिस के अनुसार  करीब 1800000 का डीजल-पेट्रोल जब्त कर अस्सू के साथी  नितिन सिंह गौतम और टैंकर क्रमांक एमपी 17 जी 0116 के ड्राइवर रविंद्र यादव निवासी रीवा को गिरफ्तार कर धारा 420, 379, 285, 34 भारतीय दंड विधान एवं 91 डी विस्फोटक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।  
    प्रकरण के मुख्य आरोपी अस्सू अग्रवाल और ट्रक क्रमांक एमपी 20 जीए 6766   के चालक की तलाश की जा रही है। लंबे समय से जारी इस अवैध कारोबार का भंडाफोड़ करने में एसडीओपी रोहित केशरवानी, टीआई गौतम, एसआई हेमंत यादव, सूर्यकांत, टीकाराम, प्रधान आरक्षक रामकरण, लाल सिंह आरक्षक दिनेश, प्रमोद, अभिषेक की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
आधे दाम में होती थी खरीदी - श्री गौतम ने बताया कि जाँच में पता चला है कि पेट्रोल 50 रुपये लीटर व डीजल 25 से 30 रुपये लीटर के भाव पर खरीदकर दोगुने दाम पर बेचा  जाता था और गोदाम में संग्रहण कर टैंकरों के माध्यम से बाहर भेजा जाता था।
डिपो के टैंकर चालक से मिलीभगत - जानकारों के अनुसार शहपुरा क्षेत्र में स्थित डिपो से टैंकरों में डीजल-पेट्रोल भरकर सप्लाई करने वाले ड्राइवरों की मिलीभगत से यह गोरखधंधा चल रहा था। चालक अपने टैंकर से माल चोरी कर यहाँ बेचते थे। यहाँ पेट्रोल में सस्ते दाम पर मिलने वाला एथेनॉल की मिलावट की जाती थी।

कमेंट करें
Ue9sw